ममता के भतीजे को तस्करी से दिए गए 900 करोड़ रुपए

कोलकाता : बंगाल चुनाव के तीसरे चरण की वोटिंग से पहले बीजेपी ने ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी पर बड़ा आरोप लगाया है। बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने आरोप लगाया कि अभिषेक बनर्जी तस्करी को प्रश्रय देते रहे हैं और उन्हें तस्करी के आरोपी बिनय मिश्रा ने 900 करोड़ रुपए दिए हैं। शुभेंदु के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिनेश त्रिवेदी और बीजेपी के केंद्रीय सह प्रभारी अरविंद मेनन भी मौजूद थे। शुभेंदु ने कहा, “कोयला घोटाले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और राज्य सरकार की भूमिका साबित हो गई है, मुख्यमंत्री के भतीजे को 900 करोड़ रुपये गए।” बीजेपी ने कुछ ऑडियो टेप का भी जिक्र किया। इस ऑडियो टेप में घूस लेने देने की कथित बात कही जा रही है। उन्होंने कहा, “TMC ने इस बार चुनाव में उम्मीदवार को जो गैर-अधिकारिक रुपये भेजे हैं, उसके सब आंकड़े हमारे पास हैं, सही वक्त पर हम उसका खुलासा करेंगे। ये रुपये भी गाय तस्करी, कोयला माफिया के रुपये से बांटे गए थे।”
दरअसल, आज ही खबर आई है कि प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कोयला तस्करी घोटाला केस में बांकुरा (बंगाल) के इंस्पेक्टर इंचार्ज अशोक मिश्रा को गिरफ्तार किया है। सूत्रों के मुताबिक, अशोक मिश्रा तृणमूल कांग्रेस के युवा नेता विनय मिश्रा के करीबी सहयोगी हैं, जो कोयले और मवेशियों की तस्करी के आरोपी हैं।
ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के कथित करीबी विनय मिश्रा पशु तस्करी मामले में फरार आरोपी हैं। कोयला तस्करी मामले में सीबीआई पहले ही अभिषेक बनर्जी की पत्नी और अन्य रिश्तेदारों के बयान दर्ज कर चुकी है। इससे पहले, केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने मवेशी तस्करी मामले में विनय मिश्रा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। बाद में, कोलकाता की एक अदालत ने विनय मिश्रा के खिलाफ गैर-जमानती वारंट (NBW) जारी किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मास्क पहनने के लिए कहने पर महिला यात्री से बदसलूकी, एक गिरफ्तार

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : ऑटो में बिना मास्क के सफर कर रहे व्यक्ति को मास्क पहनने को कहना एख महिला को काफी महंगा पड़ा गया। आरोप आगे पढ़ें »

पुलिस कर्मियों में संक्रमण बढ़ते देख फिर चालू हो रहा क्वारंटाइन सेंटर

डुमुरजला पुलिस अकादमी और भवानीपुर पुलिस अस्पताल में चालू हुआ केन्द्र सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महानगर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। पिछले आगे पढ़ें »

ऊपर