बंगाल चुनाव के पहले फिर ‘जय श्री राम’ के नारे से गरमायी राजनीति

तृणमूल ने कहा – भाजपा ने बंगाल का सिर झुका दिया
कांग्रेस ने भी ममता का दिया साथ
जो हुआ वह ठीक नहीं – माकपा
कोलकाता : नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती मनाने के लिए विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में वहां ‘‘जय श्री राम’’ के नारे लगाये गये जिसके बाद सीएम ममता बनर्जी ने वक्तव्य रखने से इनकार कर दिया। पीएम के कार्यक्रम में नारे से तृणमूल ने कड़ी आपत्ति जतायी है। कांग्रेस ने भी कहा है कि सरकारी मंच पर जय श्री राम के नारे लगाना सही नहीं हुअा है। वहीं माकपा ने कहा कि जो काम ममता बनर्जी पहले करती थी, सरकारी कार्यक्रम में पार्टी की बातें, वहीं काम भाजपा ने शुरू कर दिया। बहरहाल, जय श्री राम के नारे से राजनीति गरमा गयी है।
बंगाल का सिर झुक गया – पार्थ
तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि आज बंगाल का सिर झुक गया। पीएम की मौजूदगी में एक सरकारी कार्यक्रम में राजनीतिक स्लोगन से बंगाल शर्मिंदा है। महान पुरुष नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती कार्यक्रम में भाजपा ने यह सब करके बंगाल के लोगों को शर्मशार किया है। जनता भाजपा को कभी माफ नहीं करेगी।
गरिमा किसी को सिखाया नहीं जा सकता – डेरेक
सांसद डेरेक ओब्रायन ने कहा कि गरिमा आप किसी को नहीं सिखा सकते। न ही आप गांठ बनाकर सिखा सकते हैं। एक मिनट का वीडियो है जो बताया है कि वास्तव में क्या हुआ और जिसमें ममता बनर्जी द्वारा गरिमापूर्ण प्रतिक्रिया शामिल है।
राम का नाम गले लगाकर बोले, गला दबाकर नहीं – नुसरत
तृणमूल सांसद व अभिनेत्री नुसरत जहां ने ट्वीट कर कहा कि राम का नाम गले लगाकर बोले ना कि गला दबाके। स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती समारोह में राजनीतिक और धार्मिक नारेबाजी की मैं कड़ी निंदा करती हूं। यह सरकारी कार्यक्रम था। नेताजी सुभाष चंद्र बोस ऐसे नेता थे जिन्होंने बंगाल को उत्पीड़न के खिलाफ लड़ना सिखाया। भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में उनका योगदान हर भारतीय के मन में रहेगा! देश नायक दिवस पर, बंगाल महान नेताजी को नमन करता है।
जानबूझकर ममता बनर्जी को अपमानित किया गया – अधीर
कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि मुझे लगता है कि सीएम ममता बनर्जी को जान बूझकर अपमानित किया गया है। जब सरकारी मंच पर सीएम के वक्तव्य रखने जा रही थी तब जय श्री राम बोलने का कोई मतलब नहीं था। यह सब पहले से भाजपा की प्लानिंग थी। मैं इस घटना का कतई समर्थन नहीं करता हूं। वहीं प्रदीप भट्टाचार्य ने भी कहा कि जो भी हुआ है वह ठीक नहीं है।
नेताजी जयंती पर जो हुआ वह ठीक नहीं – मो. सलीम
माकपा नेता मो. सलीम ने कहा कि नेताजी जयंती के मौके पर ये सब जो भी हुआ वह ठीक नहीं हुआ है। सरकारी कार्यक्रम में जय श्री राम के नारे लगाना सही नहीं है। हालांकि ममता बनर्जी भी सरकारी काम में पार्टी के कामों को करती आयी हैं, वहीं काम अभी भाजपा कर रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रायदीघी से चुनाव नहीं लड़ना चाहती हैं तृणमूल की विधायक देवश्री

कहा - काफी अपमानित हुई हूं, धमकियां भी मिलीं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा चुनाव से पहले मशहूर अभिनेत्री व दो बार की तृणमूल विधायक देवश्री राय आगे पढ़ें »

कांचरापाड़ा में रोकी गयी भाजपा की परिवर्तन यात्रा

पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच धक्का-मुक्की कोलकाता : भाजपा की परिवर्तन यात्रा रोके जाने को लेकर बुधवार को कांचरापाड़ा का कापा मोड़ इलाका रणक्षेत्र में आगे पढ़ें »

ऊपर