जिस गैस से बनना था खाना उससे उड़ रहा है ऑटो का धुआं

कमरहट्टी में धड़ल्ले से चल रहा है घरेलू गैस से रिफिलिंग का अवैध धंधा
कमरहट्टी : सरकार की ओर से जिन घरेलू गैस को ग्राहकों की सहूलियत के लिए सब्सिडी पर उपलब्ध करवाया जाता है उसी घरेलू गैस का कमरहट्टी अंचल में कुछ लोग व्यावसायिक इस्तेमाल कर अवैध मुनाफा कमा रहे हैं, यानी जिस गैस से लोगों के घरों में खाना बनना चाहिए था उससे कुछ ऑटो ड्राइवर धुआं उड़ा रहे हैं। कमरहट्टी अंचल के रबर फैक्ट्री, रथतल्ला, टेक्समैकाे सहित कई इलाकों में यह अवैध कारोबार फल-फूल रहा है। जहां ऐसा करना कानूनी नियमों का उल्लंघन है वहीं अवैध तरीके से गैस रिफिलिंग कई बड़े हादसे का भी कारण बन जाता है। रबर फैक्ट्री इलाके में ही बीटी रोड के किनारे एक गुमटी में सरेआम यह अवैध कार्य चल रहा है।
क्या कहना है स्थानीय निवासियों व प्रशासन का
स्थानीय लोगों का कहना है कि इस अवैध धंधे के बारे में स्थानीय पुलिस व प्रशासन को जानकारी भी है मगर जो लोग ऐसा कर रहे हैं, उनके प्रभाव के कारण इसे बंद करवाने की दिशा में कोई सख्ती नहीं दिखायी जा रही है। इस काम में प्रशासनिक लोगों के सहयोग का आरोप लगाते हुए स्थानीय निवासी व भाजपा नेता गोविंद झा ने कहा कि पहले तो यह काम चोरी छिपे चलता था मगर अब ऐसा करने वाले सत्तापक्ष के नेताओं और गुंडों के सहयोग से खुलेआम और बड़े पैमाने पर कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस में शिकायत किये जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस उपेक्षा से यदि घनी आबादी वाले इलाके में कोई हादसा होता है तो इसकी जिम्मेदारी प्रशासन को लेनी होगी। वहीं इस अवैध कार्य से अनभिज्ञ होने की बात कहते हुए कमरहट्टी पालिका के प्रशासक गोपाल साहा ने कहा कि यह काम चोरी छिपे किया जा रहा होगा, उन्होंने कहा कि वे इसका पता लगायेंगे। उनका कहना है कि वे प्रशासन से अविलंब कार्रवाई की मांग करते हैं।
अवैध रिफिलिंग से क्या-क्या हो सकता नुकसान
घरेलू गैस सिलिंडरों के रिफिलिंग से रिसनेवाली गैस इलाके में फैल जाती है जिससे उनमें इस बात का डर बना रहता है कि कहीं कभी भी आग ना पकड़ ले। वहीं इस गैस का ऑटो में इस्तेमाल करना यानी दुर्घटनाओं को न्योता देना है। रिफिलिंग के दौरान भी जरा सी चूक गैस सिलेंडर के विस्फोट का कारण बन सकती है। अतः घनी आबादी में यह अवैध कार्य बड़े हादसों का कारण बन सकता है। इसका अवैध कारोबार जरूरतमंदों के हक को छीनने और सीधे सरकार को घाटा पहुंचाने को भी एक बड़ा जुर्म है।
माइलेज अच्छा होने के कारण ऑटो में भरवाते हैं घरेलू गैस
अंचल के कुछ ऑटो ड्राइवर जो रिफिलिंग करवाते हैं, उन्होंने नाम न लिखे जाने की शर्त पर कहा कि मंहगाई के दौर में जहां एलपीजी की कीमत आसमान छू रही है वहीं घरेलू गैस के इस्तेमाल से उन्हें कम कीमत पर माइलेज अच्छी मिल जाती है। यही कारण है कि इसके नुकसान और खतरे को जानते हुए भी वे रिफिलिंग करवाते हैं। उन्होंने बताया कि जो काम घरेलू गैस के 2 लीटर से हो जाता है, उतनी ही किलोमीटर गाड़ी चलाने में एलपीजी की खपत 4 लीटर की आती है। उन्होंने कहा कि यह गैस भारी होती है और इससे चलती गाड़ी में घर्षण या अन्य कारणों से आग लगने का भी खतरा रहता है मगर वे भी बचत की सोचकर ही ऐसा करते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सोनम कपूर की जिंदगी में आ गया है कोई ‘स्पेशल’, एक्ट्रेस ने फोटो शेयर कर किया ऐलान

नई दिल्ली: बॉलीवुड अभिनेत्री सोनम कपूर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं। सोनम अक्सर अपनी फोटो और वीडियो फैन्स के साथ शेयर करती रहती हैं। आगे पढ़ें »

रकुल प्रीत सिंह ने कराई प्लास्टिक सर्जरी! बिगड़ी शक्ल देख लोगों ने दिए ऐसे ताने

बड़ी खबर : कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखकर बनाये जा रहे है पंडाल

सुकांत मजूमदार और सांसद अर्जुन सिंह पहुंचे…

बिना जिम जाए इस महिला ने घटा लिया 30 किलो वजन, खुद बनाया डाइट प्‍लान

6 विकेट से मिली जीत के साथ पॉइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंची सीएसके

पहली मुलाकात में प्यार, शादी के महीनों बाद पति को चला पता, पत्नी थी पोर्न स्टार

ब्रेकिंग : डॉ. सुकांत मजुमदार को केंद्र ने दी जेड श्रेणी की सुरक्षा

10 मिनट में पी डाली डेढ़ लीटर कोल्‍ड ड्रिंक, फिर हुआ ऐसा और चली गई जान

इन 7 आदतों वाले लड़कों से भी दूरी बना लेती हैं लड़कियां

ऊपर