बेलघरिया के अपने फ्लैट को गेस्ट हाउस बनाना चाहती थी अर्पिता

आना-जाना था प्रभावशालियों का
मां मिनती चक्रवर्ती ने कहा – पार्थ के साथ हैं उसके गहरे संपर्क
बेलघरिया : शिक्षक नियुक्ति घोटाले के मामले में ईडी ने राज्य के मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी को भी गिरफ्तार कर लिया है। अर्पिता के ही दक्षिण कोलकाता डायमंड सिटी ​​के फ्लैट से ईडी ने करोड़ों रुपये जब्त किये हैं। वहीं अर्पिता मुजर्खी के बेलघरिया क्लब टाउन हाइट्स ​स्थित दो फ्लैटों पर भी नजर रखी जा रही है। बताया जा रहा है कि कॉम्प्लेक्स के 2ए व 8ए नंबर फ्लैट में भी ईडी सर्च अभियान चला सकती है। अर्पिता का बेलघरिया के देवानपाड़ा में पुश्तैनी एक घर भी है। इलाके के लोगों का कहना है कि यहां उसका परिवार सालों से रह रहा है। अर्पिता यहां मां से मिलने आया करती थी। उसकी मां मिनती मुखर्जी ने कहा कि बेटी उसकी देखभाल करती थी। बीच-बीच में उससे मिलने आया करती थी। उन्होंने मीडिया के सामने यह भी स्वीकार किया कि ​अर्पिता का मंत्री पार्थ चटर्जी से गहरा संपर्क था। वे बातें किया करते थे। वहीं दूसरी ओर क्लब टाउन कॉम्प्लेक्स के निवासियों ने बताया कि पिछले 4 सालों से अर्पिता मुखर्जी 8ए फ्लैट में रहा करती थी मगर गत कुछ महीनों से अर्पिता का यहां आना-जाना कम हो गया था। उनके यहां प्रभावशाली लोगों को भी आते-जाते देखा गया था। वे ऐसे लोग हैं जो खबरों व टीवी में देखे जाते हैं हालांकि मंत्री पार्थ चटर्जी को उन्होंने यहां कभी नहीं देखा। बताया गया है कि ये दोनों लग्जिरियस फ्लैट हैं जिसमें एक 1500 स्क्वाॅयर फिट है जिसकी कीमत 75 लाख तो दूसरे की 85 लाख रुपये है। यह 1700 स्क्वॉयर फिट का बताया गया है। अर्पिता 8ए फ्लैट का गेस्ट हाउस के तौर पर कॉमर्शियल यूज करना चाहती थी। इसको लेकर उसने डेकोरेशन में बदलाव के साथ ही वहां तोड़फोड़ कर फ्लैट काे गेस्ट हाउस का लुक देने की भी कोशिश की थी हालांकि तोड़फोड़ को लेकर उसे सोसाइटी के लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा था। हाउसिंग कॉम्लेक्स सोसाइटी के सचिव अंकित चौरड़िया ने बताया कि लगभग डेढ़ साल पहले इस काम को उन्होंने रुकवा दिया था क्योंकि यह कहीं ना कहीं अवैध था। उस दौरान अर्पिता ने अपना प्रभाव दिखाने की धमकी भी दी थी हालांकि इसके बाद उन्होंने खुद ही काम बंद करवा दिया था। रेसिडेंशियल जगह के कॉमर्शियल इस्तेमाल की क्या वजह थी उन्हें नहीं पता, मगर यहां रहनेवालों ने ऐसा होने नहीं ​दिया। उन्होंने यह भी बताया कि लाखों के फ्लैट में रहने के बावजूद अर्पिता यहां के मेंटेनेंस चार्ज नहीं दिया करती थी जिसके लिए उन्हें बार-बार फोन भी किया जाता था। लगभग 4 महीनों का मेंटेनेंस अभी भी बाकी है। वहीं बताया गया है कि बारानगर में अर्पिता ने एक नेल आर्ट की दुकान भी खोल रखी थी जिसे वह चलाया करती थी हालांकि यहां अर्पिता को कभी-कभी आते देखा गया था। दुकान के कर्मियों का कहना है कि इस लाइन में काफी कुछ करने की इच्छा उसकी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

क्लब में बाउंसर-महिला ने की अश्लील हरकत, वीडियो वायरल होने पर…

नई दिल्लीः एक नाइट क्लब में महिला और बाउंसर की अश्लील हरकत का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की है। वे दोनों आगे पढ़ें »

ऊपर