अर्पिता ने कहा, रुपये मेरे नहीं, मेरी अनुपस्थिति में रखे गये

पार्थ – अर्पिता दोनाें कह रहे हैं रुपये उनके नहीं
आ​ज दोनों को विशेष अदालत में पेश किया जाएगा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शिक्षक भर्ती घोटाला में ईडी द्वारा गिरफ्तार पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी ने मंगलवार को विस्फोटक बयान दिया। अर्पिता ने कहा कि बरामद रुपये उनके नहीं हैं, उनकी जानकारी के बिना उनकी अनुपस्थिति में फ्लैट्स में रुपये रखे गये थे। इससे पहले पार्थ चटर्जी ने कहा है कि रुपये उनके नहीं हैं। उनके यह कहने के बाद अटकलें लगाई जाने लगीं कि उनका इशारा किसकी ओर था। वहीं आज बुधवार को पीएमएलए की अदालत में दोनों को पेश किया जाएगा। बुधवार को ही दोनों की 10 दिन की ईडी हिरासत खत्म हो जाएगी। ईडी ने अर्पिता मुखर्जी के टॉलीगंज तथा बेलघरिया फ्लैट्स से 50 करोड़ रुपये तथा 5 किलो से अधिक सोना जब्त किया है। ईडी लगातार उनसे पूछताछ कर रही है।
इस दिन अर्पिता व पार्थ दोनों को ही मेडिकल चेकअप के लिए जोका ईएसआई ले जाया गया। अर्पिता ने गाड़ी से उतरने के बाद मीडिया से कहा, ‘मेरी जानकारी के बिना मेरे घरों में पैसा रखा गया था। वे रुपये मेरे नहीं हैं। उल्लेखनीय अर्पिता ने किसी का नाम नहीं लिया। अब सवाल उठता है कि इतने रुपये उसके फ्लैट से मिले हैं, क्या उसकी जानकारी घर की मालकिन को नहीं हो, क्या यह संभव है ? अगर वाकई रुपये उसके नहीं हैं तो किसके हैं और क्यों नहीं इसका जवाब अर्पिता दे पा रही है। इससे पहले रविवार को पार्थ को मेडिकल चेकअप के लिए ले जाया गया था। उस दिन पार्थ ने कहा था कि वह साजिश का शिकार हुए हैं। रुपये उनके नहीं हैं। समय आने पर सब साफ हो जायेगा। ऐसे में अब पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी, दोनों ही कह रहे हैं कि बरामद किये गये 50 करोड़ रुपये उनके नहीं हैं। बहरहाल ईडी द्वारा मामले की जांच जारी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आमिर खान और सलमान खान के बाद तिरंगे के साथ दिखे शाहरुख खान

मुंबईः 15 अगस्त को भारत को आजादी के 75 साल पूरे होने जा रहे हैं। ऐसे में भारत सरकार ने 'हर घर तिरंगा' कैम्पेन शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर