अबू ताहेर समेत 3 के खिलाफ वारंट जारी करने की अपील

पूछताछ के लिए बुलाये जाने पर नहीं आ रहे हैं अभियुक्त नेता
चुनाव बाद हिंसा का मामला
सन्मार्ग संवाददाता
नंदीग्राम / कोलकाता : चुनाव बाद हिंसा के मामले की जांच पड़ताल के लिए सीबीआई की ओर से जारी नोटिस के बावजूद नंदीग्राम के टीएमसी नेता अबू ताहेर समेत 3 लोग सोमवार को सीबीआई के समक्ष पेश नहीं हुए। इनके खिलाफ वारंट जारी करने के लिए सीबीआई ने कोर्ट में अपील की है। सीबीआई की ओर से अबू ताहेर समेत 3 लोगों को पूछताछ के लिए नोटिस जारी कर 25 जुलाई को हाजिर होने का निर्देश जारी किया गया था। सभी अभियुक्तों को पूछताछ के लिए हल्दिया स्थित कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के गेस्ट हाउस में बने सीबीआई के अस्थाई कैंप में बुलाया गया था। सोमवार को सुबह 11 बजे अभियुक्तों को पेश होने का निर्देश जारी किया था, लेकिन निर्देश की अवहेलना कर अबू ताहेर समेत तीनों अभियुक्त इस दिन सीबीआई के समक्ष पेश नहीं हुए।
पेश होने से ही जेल भेजा जाता है : अबू ताहेर
सोमवार को भी वह सीबीआई के समक्ष नहीं आए। इधर अबू ताहेर का कहना है कि सीबीआई के समक्ष पेश होने पर ही गिरफ्तारी और जेल हिरासत में भेज दिया जाता है। इसलिए वह सीबीआई के समक्ष पेश नहीं हुए। उन्होंने इस मामले को कोलकाता हाईकोर्ट के समक्ष रखा है। अधिवक्ताओं के निर्देश के अनुसार ही वह अपना अगला कदम उठाएंगे। वहीं नंदीग्राम में चुनावी हिंसा के मामले में अबू ताहिर सहित तीन लोगों के खिलाफ कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट जारी करने की अपील की है।
कोर्ट में जल्द होगी सुनवायी
सीबीआई ने नंदीग्राम में भाजपा कार्यकर्ता देबब्रत माइती की हत्या के मामले में तृणमूल नेता अबू ताहिर के नाम गिरफ्तारी वारंट जारी करने के लिए निचली अदालत में आवेदन किया है। अबू ताहिर समेत तृणमूल के कई नेताओं को पहले भी कई बार बुलाया जा चुका है, लेकिन नेताओं ने हर बार किसी न किसी बहाने नहीं हाजिर हुई थी। अबू ताहेर के अतिरिक्त शेख खुसानबिश, अमौल्लाह की हिरासत की मांग की गई है, आरोप है कि इन लोगों ने पूछताछ में सहयोग नहीं किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सीएम ममता ने पूरे सिस्टम को भ्रष्टाचार में डुबो दिया हैः मो.सलीम

कोलकाताः "राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रशासन ही नहीं, पूरे सिस्टम को भ्रष्टाचार में डुबो दिया है।" यह कहना है मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के आगे पढ़ें »

ऊपर