राहत शिविर से राहत सामग्री चोरी होने से गुस्साए लोगों ने जताया आक्रोश

– टायर जलाकर टाकी रोड पर किया अवरोध
– इसके पहले भी हो चुकी हैं चोरियां
बशीरहाट : रात के अंधेरे में राहत शिविर से चावल, आलू सहित अन्य सामग्री चोरी हो जाने को लेकर बशीरहाट के हिंगलगंज के कांटा खाली में व्यापक तनाव फैल गया। चोरों को गिरफ्तार करने की मांग पर पीड़ितों ने मंगलवार को हासनाबाद-लैबुखाली रोड पर टायर जलाकर विरोध-प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना पहले भी घटी थी मगर अब हद हो गई। इस दिन कई किलो राशन चोरी कर ली गयी। उनका कहना है कि एक तो वे पहले से ही संकट में हैं और किसी तरह दिन बिता रहे हैं दूसरे उन्हें दी गयी राहत सामग्री की चोरी उनके लिए और भी परेशानी का सबब बन गया है। लोगों के विरोध को देखते हुए हिंगलगंज थाने की पुलिस वहां पहुंची और प्रदर्शनकारियों को समझा-बुझाकर अवरोध हटवाया। गुस्साए लोगों ने अविलंब चोरों की गिरफ्तारी की मांग की जिस पर पुलिस ने उन्हें आश्वस्त किया कि जल्दी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि यास चक्रवात के बाद अभी भी बशीरहाट अंचल के संदेशखाली, हिंगलगंज, मीनाखां ब्लॉक के कई गांव बाढ़ की चपेट में हैं और लाखों लोग अभी भी राहत शिविरों में दिन बिता रहे हैं। प्रशासन के निवेदन पर कई सामाजिक संगठन व स्वयंसेवी संगठनों ने इन लोगों के बीच पहुंचकर राहत शिविर में राहत सामग्री बांटी है जिससे उनका किसी तरह से गुजारा चल रहा है। लोग अपने हिसाब से अपनी राहत सामग्री को संभाल कर रखे हुए हैं ताकि उनका गुजारा हो मगर ऐसी शिकायत आ रही है कि लोगों के सोने पर कुछ लोग वहां राहत सामग्री चुरा ले जा रहे हैं। कांटाखाली के राहत शिविर में रहनेवालों का आरोप है कि कई किलो चावल, दाल, सरसों तेल, आलू और यहां तक कि तिरपाल तक चोरी कर लिए गए हैं। इस घटना को लेकर पीड़ितों में भारी आक्रोश है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अगर आप भी है अपने बढ़ते वजन से परेशान तो आज से ही खाना शुरु करें ये चीज

कोलकाताः भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के लगभग हर देश में बढ़ते वजन को लेकर लोग परेशान है। ऐसे में वजन कम करने के लिए आगे पढ़ें »

रक्षा से जुड़ी वेबसाइट हैक करने वाले थे चीनी अपराधी, पूछताछ में खुलासा

कोलकाता /मालदह : सीमाई इलाके से अवैध तरीके से भारतीय सीमा प्रवेश करते पकड़े गये अपराधी चीनी नागरिक हानजुनवे (36) ने फिर सनसनीखेज खुलासा किया आगे पढ़ें »

ऊपर