केंद्र के फैसले से नाराज ममता ने पीएम को लिखा पत्र

बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र के मुद्दे पर तृणमूल एक्शन में
विधानसभा से लेकर संसद तक में उठायेगी आवाज
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बंगाल में बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र बढ़ाने के खिलाफ तृणमूल पूरे एक्शन में आ गयी है। बंगाल में ममता सरकार इससे नाखुश है। केंद्र पर नाराजगी जताते हुए सीएम ममता बनर्जी ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। तृणमूल प्रवक्ता तथा वरिष्ठ सांसद सौगत राय ने इसकी जानकारी दी है। सांसद ने कहा कि हमलोग विधानसभा में प्रस्ताव लाएंगे। इस मुद्दे को संसद में भी उठायेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बढ़ाकर राज्य सरकार के अधिकारों को कम करने की कोशिश की जा रही है। सौगत राय ने केंद्र के इस फैसले को राज्य के अधिकार क्षेत्र में हस्तक्षेप करार दिया है। जानकारी के मुताबिक पश्चिम बंगाल विधानभा में 16 नवंबर को बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बढ़ाने के केंद्र के फैसले पर चर्चा होगी। हालांकि इस चर्चा में विरोधी दल शामिल होता है या नहीं, यह साफ नहीं हो पाया है। बता दें कि इससे पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बढ़ाने के फैसले की निंदा की थी और इसे देश के संघीय ढांचे में हस्तक्षेप की कोशिश करार दिया था। गौरतलब है कि भाजपा नीत केंद्र सरकार ने बीएसएफ अधिनियम में संशोधन किया है ताकि बल को पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में अंतरराष्ट्रीय सीमा से 50 किलोमीटर के दायरे में तलाशी, जब्ती और गिरफ्तारी का अधिकार दिया जा सके। पहले यह दायरा अंतरराष्ट्रीय सीमा से 15 किलोमीटर तक था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

रो पड़े रतन मालाकर, कहा…देखें वीडियो

कोलकाताः इस बार वार्ड 73 से तृणमूल कांग्रेस ने ममता की भाभी काजरी बनर्जी को अपना उम्मीदवार बनाया है। वहीं इस वार्ड से टिकट नहीं मिलने आगे पढ़ें »

ऊपर