अंडाल एयरपोर्ट : डीजीसीए की टीम ने शुरू की घटना की जांच

निरीक्षण के साथ-साथ एयरपोर्ट अधिकारियों से की पूछताछ
घायलों से मिले, अस्पताल प्रबंधन से मांगा इंजुरी रिपोर्ट
सन्मार्ग संवाददाता
अंडाल : बहुचर्चित स्पाइस जेट टर्बुलेंस मामले में डीजीसीए की टीम ने मंगलवार को तेज रफ्तार में जांच शुरू की। इसके लिए कोलकाता से वरिष्ठ अधिकारियों की टीम अंडाल एयरपोर्ट पहुंचीं। उल्लेखनीय है कि मुंबई से दुर्गापुर आ रही विमान के टर्बुलेंस में फंसने की घटना की जांच के लिए डीजीसीए ने दिन भर पूछताछ की। इनमें एयरपोर्ट अधिकारियों उस दिन के बारे में पूछा गया कि आखिर किस परिस्थिति में उड़ान की लैं​डिंग की अनुमति दी गयी। क्या विमान में फ्यूल समाप्त हो रहा था या फिर क्या कारण था कि चक्रवाती तूफान के ​बीच उड़ान को उतारने का रिस्क पायलट ने लिया।
एटीसी अधिकारियों ने दी अहम जानकारी
एयरपोर्ट के एटीसी अधिकारियों ने डीजीसीए अधिकारियों को बताया कि कैसे उस अन्य उड़ानों को डायवर्ट किया गया था। वहीं इस उड़ान की लैंडिंग कराने के लिए पायलट ने जब उनसे संपर्क किया तो अधिकारी की ओर से सतर्क किया गया था। डीजीसीए के अधिकारियों ने घटना की जांच शुरू करते हुए एयरपोर्ट के एटीसी से पूछताछ के बाद रन वे का भी निरीक्षण किया। सूत्र बताते हैं कि डीजीसीए की टीम ने एयरपोर्ट तथा स्पाइस जेट के अधिकारियों संग बैठक करते हुए घटना से संबंधित बिंदुओं पर चर्चा की। उनसे भी पायलट व अन्य क्रू मेम्बरों के उस दिन दिये गये बयान के बारे में जानकारी ली गयी। हालांकि डीजीसीए की ओर से उस दिन जो भी उड़ान से संबंधित अधिकारी, पायलट व क्रू मेम्बर थे, सबसे ईमेल के जरिये उस दिन की इस घटना के बारे में जवाब मांगा गया है। हालांकि इन सबको फिलहाल डीरोस्टर यानी कि काम पर आने से रोका गया है। जब तक इसकी जांच पूरी नहीं हो जाती, ये काम पर वापस नहीं लौट पाएंगे।
सिर व स्पाइन में चोट झेल रहे यात्रियों से अस्पताल में जाकर लिया बयान
डीजीसीए अधिकारियों की टीम अंडाल स्थित डायमंड अस्पताल में इलाजरत महिला यात्री अलोका सेनगुप्ता से मिले। अस्पताल के डायरेक्टर डॉ टीके राय संग बैठक कर रविवार की रात इलाज के लिए अस्पताल लाये गए घायल यात्रियों की इंजुरी से संबंधित मुद्दों पर जानकारी ली। ज्ञात हो कि बीते रविवार की देर शाम मुंबई से दुर्गापुर आ रही स्पाइस जेट की विमान काल वैशाखी तूफान में फंस गया था। विमान में 188 पैसेंजर्स सवार थे। पायलट ने सूझबूझ के साथ विमान को अंडाल एयरपोर्ट पर लैंड कराकर सभी की जान बचाई थी। हालांकि घटना में 14 यात्री और 3 क्रू मेंबर्स घायल हुए थे।
घायल यात्रियों ने बताया कि बॉल की तरह सीट से उछल रहे थे हम
घायल यात्रियों ने बताया कि फिल्मों में जैसे क्रैश के वक्त सीन दिखलाता है, बिल्कुल वैसा सीन था। सामान गिर रहे थे, फ्लाइट में इतने अधिक झटके लग रहे थे, कि लग रहा था कि उड़ान दो हिस्सों में टूट जाएगी। हम सब एक-दूसरे को पकड़े हुए थे और हमें लगा कि यह हमारा अंतिम क्षण है। इधर, स्थानीय पुलिस-प्रशासन के सहयोग से एयरपोर्ट प्रबंधन ने सभी घायलों को तत्परतापूर्वक अस्पताल पहुंचाया गया था। डॉ टीके राय ने कहा कि उनके अस्पताल में चिकित्साधीन महिला यात्री अलोका सेनगुप्ता को मंगलवार को डिस्चार्ज कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि डीजीसीए की टीम अस्पताल आकर घायल से मिलने के साथ-साथ उनसे सभी यात्रियों की इंजुरी रिपोर्ट मांगी है। इधर एयरपोर्ट प्रबंधन के मुताबिक फ्लाइट ऑपरेशन स्वाभाविक है। दुर्गापुर से दिल्ली, चेन्नई, गुवाहाटी, मुंबई, हैदराबाद आदि गंतव्यों के लिए नियमित उड़ान भर रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में भजन एवं गीत की प्रस्तुति, देखिए वीडियो…

जयपुर : जयपुर में राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी एल संतोष की उपस्थिति में भजन एवं आगे पढ़ें »

ऊपर