….और अब अस्पतालों में 30% से 40% बेड खाली

सैटेलाइट सेंटर भी किए जा रहे बंद
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार कमी दर्ज की जा रही है। ऐसे में अब अस्पतालों में बेड की उपलब्धता नजर आ रही है। आंकड़े कुछ ऐसी ही तस्वीर बयां कर रहे हैं। यही वजह है कि कई अस्पताल अब धीरे-धीरे अपने सैटेलाइट सेंटर भी बंद करने की ओर अग्रसर हैं।
सीके बिड़ला हॉस्पिटल्स के सीओओ डॉ. सिमरदीप गिल ने कहा कि अब बेड की उपलब्धता है। राज्य सरकार की ओर से की गई सख्ती का असर ही है कि ऐसी स्थिति हो सकी है। साथ ही लोग भी नियम को मान रहे हैं। यही वजह है कि हमने अपने एक 30 बेड वाले सैटेलाइट सेंटर को भी बंद कर दिया है। गिल ने कहा कि देखा जा रहा है कि अब कोविड काफी हद तक नियंत्रण में आ सका है। ऐसे में अन्य मरीजों की चिकित्सा परिसेवा में भी सहूलियत मिली है।
आर.एन. टैगोर इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ कार्डियाक साइंसेज (आरटीआईआईसीएस) के जोनल हेड आर.वेंकटेश ने कहा कि अब 30% से 40% बेड ही खाली मिल रहे हैं। हालांकि पहले 100% बेड ही फुल थे। क्रिटिकल बेड अब उपलब्ध हो रहे हैं। मरीजों को बेड के लिए वेटिंग अब पहले से काफी कम हो गई है। अब एक दिन में कोरोना वायरस के आंकड़े 10,137 पर पहुंच गए हैं। ऐसे में यह एक राहत भरा संकेत राज्य के लोगों के लिए है।
इस पर भी नजर
कुल कोविड बेड हॉस्पिटल-618
कुल कोविड बेड क्षमता-39388
कुल खाली कोविड बेड-21195
अस्पताल-बेड-खाली बेड
आमरी, साल्टलेक-80-75
सीएनएमसी-216-160
आईडी हॉस्पिटल-315-142
बेल व्यू हॉस्पिटल-236-10
चार्नक हॉस्पिटल-127-21
(नोटः आंकड़े स्वास्थ्य विभाग की ओर से)

शेयर करें

मुख्य समाचार

बुधवार के दिन न करें ये गलतियां हो सकता है नुकसान

कोलकाताः शास्त्रों के अनुसार हर देवी-देवता की पूजा अर्चना के लिए एक दिन निर्धारित होता है इसी तरह से बुधवार का दिन विघ्नहर्ता श्री गणेश आगे पढ़ें »

बॉर्डर को-ऑर्डिनेशन कॉन्फ्रेंस का शुभारंभ

कोलकाता : भारत–बांग्लादेश की सीमा सुरक्षा बलों के बीच 6 महीने में एक बार होने वाली तीन दिवसीय महानिरीक्षक सीमा सुरक्षा बल - रीजन कमांडर आगे पढ़ें »

ऊपर