भवानीपुर उपचुनाव पर टिकी सबकी निगाहें, आज ईवीएम में कैद होगी दीदी की किस्मत

कोलकाता : आज बंगाल में 3 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है मगर सबकी निगाहें बस एक ही सीट पर टिकी है और वो है भवानीपुर। ऐसा इसलिए नहीं क्योंकि वह गढ़ मुख्यमंत्री का है बल्कि इसलिए क्योंकि यहां की ​जीत ही दीदी (ममता बनर्जी) के किस्मत का फैसला करेगा। यहां की जीत ही तय करेगा कि बंगाल का मुख्यमंत्री कौन होगा।

दीदी का भाग्य तीन लाख मतदाता के हाथ
दक्षिण कोलकाता के भवानीपुर क्षेत्र में तीन लाख से अधिक मतदाता आज तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी के भाग्य पर मुहर लगा रहे हैं, जो मुख्यमंत्री के अपने छह महीने के कार्यकाल की समाप्ति से पहले एक विधायक के तौर पर राज्य विधानसभा में प्रवेश करना चाह रही हैं। भवानीपुर विधानसभा सीट पर आज उपचुनाव हो रहा है। इस सीट पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मुक़ाबला भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल से है।

ममता बनर्जी के लिए क्यों जरूरी है जीत हासिल करना

भवानीपुर सीट पर हो रहे उपचुनाव में अगर ममता बनर्जी जीत हासिल कर लेती हैं तो वह राज्य विधानसभा की सदस्य बन जाएंगी और मुख्यमंत्री बनी रहेंगी। अगर ममता बनर्जी इस उपचुनाव में हार जाती हैं तो मुख्यमंत्री का पद छोड़ना पड़ सकता है। ऐसे में अगर मुख्यमंत्री बने रहना है तो ममता बनर्जी के लिए यह चुनाव जीतना बहुत जरूरी है।

नंदीग्राम से हार चुकी हैं चुनाव

ममता बनर्जी ने 2021 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम सीट से चुनावी मैदान में उतरी थी लेकिन शुभेंदु अधिकारी से हार गईं थीं। अधिकारी बीजेपी के टिकट पर चुनावी मैदान में थे। इससे पहले शुभेंदु टीएमसी के लिए काम करते थे लेकिन अचानक से पार्टी छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

एक क्लिक में पढ़ें शाम 5 बजे तक की बड़ी खबरें

राज्य की खबरों पर एक नजर 1. कोलकाता के एक नामी रेस्टोरेंट में शनिवार को खाने के दौरान आग लग गई। मल्लिकबाजार स्थित इस रेस्टोरेंट में आगे पढ़ें »

ऊपर