36 साल के संघर्ष के बाद श्यामली घोष का सपना पूरा हुआ

कोलकाताः 36 साल के संघर्ष के बाद श्यामली घोष का सपना पूरा हुआ। हाई कोर्ट ने आदेश दिया है कि उन्हें उनकी करीब 26 साल की बकाया सैलरी का भुगतान किया जाए। उन्होंने कहा कि अदालत है, आज भी न्याय मिलता है और अदालत के कारण ही उन्हें यह सफलता मिली है। 36 साल पहले उन्होंने हाईकोर्ट में संघर्ष की शुरुआत की थी और आज 5 मई 2022 को उनके संघर्ष यात्रा की गाथा पूरी हो गई।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

काजी नज़रुल यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों ने फिर से शुरू किया धरना

आसनसोल: काजी नज़रुल यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों ने फिर से धरना शुरू कर दिया। बता दें कि कल अर्थात शुक्रवार को विद्यार्थियों ने ऑनलाइन परीक्षा लेने आगे पढ़ें »

ऊपर