नदिया के अफगानी छात्र ने पोस्ट की अपने देश की तस्वीर

बीसीकेवी के पूर्व छात्र का क्या है तालीबानी कनेक्शन ?
तस्वीर देखते ही भारतीय दोस्तों की रुह कांपी
सोशल मीडिया पर मलिकजादा ने दी सफाई
कहा, किसी संगठन से कोई लेना-देना नहीं
सन्मार्ग संवाददाता
नदिया : सैफुल्लाह मलिकजादा एक समय में विधानचंद्र कृषि विश्व विद्यालय (बीसीकेवी) का छात्र था। पिछले साल लॉकडाउन से पहले वह अपने वतन अफगानिस्तान लौट गया था। यहां हॉस्टल में उसके जो भी दोस्त थे उनके साथ वह सोशल मीडिया पर जुड़ा था। आज अफगानिस्तान पर तालीबानी कब्जा है, इस बीच मलिकजादा ने सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें पोस्ट की है जिसे देख यहां भारत के उसके दोस्तों की मानों रुह कांप गयी हो। पोस्ट की गयी तस्वीर में उसके साथ जो लोग है उनके हाथों में असलहा है, जबकि मलिकजादा के चेहरे पर खुशी झलक रही है। इस तस्वीर को देखकर यहां के उसके दोस्त खुद से सवाल कर रहे हैं कि क्या इतने दिनों तक तालिबान जैसे खतरनाक आतंकवादी संगठन का सदस्य उनका दोस्त था ? अथवा किसी दबाव में आकर वह भी तालिबानियों के संग हो लिया है हांलाकि उसकी मुस्कुराहाट से किसी दबाव में आने की बात गले नहीं उतर रही है। एक फोटों में वहां के सरकारी दफ्तर में बैठा है, उसके साथ तालिबान सदस्य बैठा है। कई लोगों ने फोटों पर कामेंट कर उससे सवाल तक पूछा है। इन सवालों का मलिकजादा ने जवाब देते हुए कहा है कि मेरे भारतीय दोस्त मुझे गलत नहीं समझे, शायद कुछ को गलतफहमी हुई है। अभी पूरे अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा है, मैं जिस फोटों को पोस्ट किया हूं, वह कपासिया एग्रीकल्चर कार्यालय का है, जो अधिकारी बैठे है वह संस्था के नये निर्देशक है, मैं उस दफ्तर का साधारण कर्मचारी हूं, इसके अलावा मेरा कोई परिचय नहीं है, किसी भी आतंकी संगठन से साथ मेरा लेना-देना नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पैसों की तंगी से बचने के लिए करें आटे के ये उपाय, होगी मां लक्ष्मी की कृपा

कोलकाता : पैसे-रुपये और तरक्की भला किसे पसंद नहीं होती, लेकिन कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जिनके हाथ में पैसे टिकते ही नहीं। पैसे आगे पढ़ें »

ऊपर