षष्ठी से लेकर दशमी तक मेट्रो में सवार हुए करीब 12.6 लाख यात्री

कोलकाता : दुर्गापूजा पर इस बार यानी कोविड के बाद पहले साल में 12,68,583 यात्रियों ने सफर किया। यह फुटफॉल षष्ठी यानी 11 अक्टूबर से लेकर दशमी यानी 15 अक्टूबर तक का है। सबसे ज्यादा षष्ठी को 3,77,761 यात्रियों ने मेट्रो में सवारी की। वहीं महासप्तमी को 2,89,051 यात्री मेट्रो में सवार हुए। इस दिन 204 स​र्विसेज के साथ 12 अतिरिक्त सर्विसेज चलायी गयी थी। महाअष्टमी यानी 13 अक्टूबर को भी 204 सर्विसेज के साथ अतिरिक्त 12 सर्विसेज थी और इस दिन मेट्रो में 2,45,013 यात्री सवार हुए। महानवमी को भी 216 सर्विसेज थी जिनमें 2,39,480 यात्रियों ने मेट्रो में सफर किया। वहीं मेट्रो यात्रियों को बेहतर व सुरक्षित सेवा प्रदान करने के लिए मेट्रो ने अपनी सिक्योरिटी व्यवस्था को टाइट कर रखा था। इसके तहत दक्षिणेश्वर, दमदम, शोभाबाजार सुतानुटी, सेंट्रल, जतिन दासपार्क, कालीघाट, र​वींद्र सरोवर एवं गीतांजलि मेट्रो स्टेशन स्टेशनों में आरपीएफ असिस्टेंट बूथ खोले गये थे। इसके साथ ही 5 क्विक रिस्पांस टीम एवं डिजास्टर मैनेजमेंट टीम भी अलग-अलग स्टेशनों पर तैनात रही। मेट्रो में खासकर महिला यात्री व बच्चों की सुरक्षा का खास ख्याल रखा गया। इसके अलावा खोजी कुत्तों और सुरक्षा उपकरणों की मदद से जांच की गयी। यात्रियों की मदद के लिए दमदम, शोभाबाजार-सुतानुटी और कालीघाट स्टेशनों पर मेडिकल बूथ खोलकर रखे गये।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कपूर और लौंग जलाने से दूर होती है घर की….

कोलकाताः लौंग एक ऐसी चीज है जिसका उपयोग अनेक कामों में किया जाता है जैसे किचन में मसाले के रूप में, आयुर्वेद में औषधि के आगे पढ़ें »

ऊपर