राजा कटरा से 10 लाख रुपये लेकर भागनेवाला कर्मचारी गिरफ्तार

योजना के तहत घटना को दिया अंजाम
नौकरी पाने के लिए शेख साजिद बन गया था स्वपन
कोलकाता : बड़ाबाजार थानांतर्गत राजा कटरा से 10 लाख रुपये लेकर भागनेवाले एक कर्मचारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अभियुक्त का नाम शेख साजिद उर्फ स्वपन कुमार (45) है। वह राजारहाट के हथियाड़ा का रहनेवाला है। गुरुवार को पुलिस ने उसे बेलियाघाटा के रानी रासमणि बाजार इलाके से पकड़ा है। शुक्रवार को उसे बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया जहां से उसे 11 दिनों के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।
क्या है पूरा मामला
पुलिस के अनुसार 12 दिसंबर 2020 को राजा कटरा के जर्दा व्यवसायी रमेश सिंह ने शिकायत दर्ज करायी कि उसका कर्मचारी स्वपन 10 लाख रुपये लेकर फरार हो गया है। उन्होंने अपनी शिकायत में बताया कि 24 नवंबर को उन्होंने स्वपन को 10 लाख रुपये देकर एक जगह भेजा था लेकिन उक्त रुपये पहुंचाने की जगह अभियुक्त रुपये लेकर फरार हो गया। करीब 10 दिन बाद भी अभियुक्त का पता नहीं चलने पर उन्होंने थाने में शिकायत दर्ज करायी। रमेश के पास स्वपन का कोई भी दस्तावेज मौजूद नहीं था। पुलिस ने उसके कार्यालय में लगे सीसीटीवी कैमरे से किसी तरह स्वपन की एक तस्वीर निकाली। मामले की जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि रमेश के यहां नौकरी करने से पहले वह राजा कटरा के एक होटल में काम करता था। होटल में काम करने के दौरान उसे पता चला कि रमेश सिंह एक बड़ा व्यवसायी है। उसके कार्यालय में रोजाना लाखों रुपये का लेनदेन होता है। अगर वह वहां पर नौकरी करेगा तो उसे लाकों रुपये लूटने का मौका मिल सकता है। हालांकि इसमें एक अड़चन था। शेख साजिद को पता चला कि रमेश अपेन कार्यालय में सिर्फ हिंदू और पूजा-पाठ करने वाले धार्मिक प्रवृति के लोगों को ही नौकरी पर रखता है।
नौकरी पाने के लिए शेख साजिद बन गया था स्वपन
इसके बाद रमेश की कायार्ज्ञल. में नौकरी पाने के लिए वह एक माला व कंठी पहन कर रमेश के पास पहुंचा और नौकरी मांगा। शेख साजिद ने अपना नाम स्वपन बताया था। जालसाज की बातों में आकर रमेश ने उसे नौकरी पर रख लिया। एक महीने की नौकरी के दौरान शेख साजिद रोजाना सुबह-शाम ऑफिस में पूजजा-अर्चना करता था ताकि मालिक का भरोसा जीत सके। अपने प्लान में वह कामयाब भी रहा। कुछ दिनों बाद रमेशा उसे रुपये ले आने और ले जाने के काम में लगा दिय। इसके बाद 24 नवंबर को वह दिनदिन आ गया जिसके लिए शेख साजिद वहां पर वौकरी करने पहुंचा। रमेश ने उसे 10 लाक रुपये एक दूसरे व्यवसायी के पास पहुंचाने के लिए भेजा तो अभियुक्त उक्त रुपये लेकर फरार हो गया। मामले की जांच के दौरान पुलिस ने उसके रिश्तेदारों से पूछताछ की तो पता चला कि सउसका असली नाम स्वपन नहीं बल्क‌ि शेख साजिद है। वह अपनी पत्नी और दो बच्चों से अलग रहता है। पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर छापामरी कर शेख साजिद को गिरफ्तार किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

डेढ़ लाख के ब्राउन सुगर के साथ एक गिरफ्तार

सिलीगुड़ी: एनजेपी थाना के सिविल ड्रेस की पुलिस ने अभियान चलाकार मंगलवार देर रात फुलबाड़ी टोलप्लाजा संलग्न इलाके से एक युवक को गिफ्तार किया है। आगे पढ़ें »

पीएम व कैलाश के खिलाफ तृणमूल ने चुनाव आयोग में की शिकायत

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः तृणमूल के राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा है कि चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है। ऐसे में प्रधानमंत्री का आगे पढ़ें »

ऊपर