पुरुलिया के छऊ कला की झलक दिखेगी भवानीपुर के पूजा पण्डाल में

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : भवानीपुर 75 पल्ली के सदस्यों ने दुर्गापूजा के दौरान 57वें वर्ष में इस बार ‘मानविक’ थीम पर मंडप का निर्माण किया है। पूरे मंडप में पुरुलिया जिले के प्रसिद्ध ‘छऊ नर्तकियों’ के लोक नृत्य को मंडप में उतारने की कोशिश की गयी है, जिससे कोरोना की इस कठिन घड़ी में इस कला से जुड़े छऊ नर्तकियों के पास खड़े होकर उनका मनोबल बढ़ाया जा सके। भवानीपुर 75 पल्ली पूजा कमेटी के सदस्यों ने अपने मंडप में पुरुलिया जिले के छऊ कलाकारों के नृत्य संगीत कला को प्रदर्शित करने का फैसला लिया है, क्योंकि लॉकडाउन में यह कला संस्कृति बुरी तरह प्रभावित हुई है। छाऊ एक पारंपरिक नृत्य रूप है, जिसमें रामायण, महाभारत और पुराणों की पुनरावृत्ति करने वाले कलाकार रंगीन वेशभूषा और मुखौटे पहने हुए हैं। इस मंडप के जरिये पुरुलिया के एक छोटे से गांव का चित्रण पेश किया जायेगा। राज्य सरकार द्वारा सूचीबद्ध छऊ नर्तकियों और उनके परिवारों को इस त्योहार के दौरान कोलकाता लाया जायेगा। क्लब के सचिव सुबीर दास ने कहा कि इस वर्ष अपने मंडप में हम पुरुलिया में छऊ कलाकारों के बच्चों और परिवार के सदस्यों को यह पूजा समर्पित कर रहे हैं। अपने मंडप के बाहर का एक हिस्सा हम इनके हवाले कर रहे हैं। इन जगहों पर बने स्टॉल में ये कलाकार नृत्य संगीत से जुड़े अपने जिले के अनोखे सामान का प्रदर्शन करने के साथ दर्शकों के बीच इसकी बिक्री भी करेंगे। कोरोना महामारी के कारण इन सभी नृत्य-संगीत से जुड़े कलाकारों को हुए आर्थिक नुकसान को ध्यान में रखते हुए कमेटी की तरफ से यह पहल की गई है। महामारी के कारण इन दिनों देश भर में त्योहार और मेला बंद रहने के कारण कई कलाकार और शिल्पकार आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

नकली सोने के सिक्के बेचने वाला गिरफ्तार

बीरभूम: बीरभूम पुलिस ने एक व्यक्ति को सोने के नकली सोने के सिक्के व हथियार के साथ गिरफ्तार किया है। जिला के साइथिया पुलिस ने आगे पढ़ें »

ऊपर