आ​ज कोलकाता की 4 सीटों पर कांटे की टक्कर

vote

भवानीपुर पर टिकीं सबकी निगाहें
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : दक्षिण कोलकाता जिसे तृणमूल का गढ़ कहा जाता है। लोकसभा चुनाव में भाजपा ने पूरे बंगाल में 18 सीटें जीती मगर दक्षिण कोलकाता में भाजपा सेंध नहीं लगा पायी थी। इसी दक्षिण कोलकाता की चार सीटों पर आज सातवें चरण के मतदान में कांटे की टक्कर मानी जा रही है। वहीं भवानीपुर पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। इस सीट पर दो ममता बनर्जी विजयी हुई हैं और इस बार वे नंदीग्राम से चुनाव लड़ रही हैं, ऐसे में यहां से तृणमूल से शोभनदेव चट्टोपाध्याय चुनाव में उतरे हैं। शोभनदेव का मुकाबला भाजपा के उम्मीदवार रुद्रनील घोष से माना जा रहा है।
3 हेवीवेट मंत्रियों की किस्मत होगी इवीएम में कैद
सांतवें चरण में चार मंत्रियों के भाग्य का फैसला आज होगा उनमें से तीन मंत्री कोलकाता से हैं। राज्य के शहरीविकास तथा नगरपालिका मामलों के मंत्री तथा पूर्व मेयर फिरहाद हकीम कोलकाता पोर्ट से तृणमूल उम्मीदवार हैं। राज्य पूर्व मेयर तथा कैबिनेट मंत्री सुब्रत मुखर्जी बालीगंज तथा वरिष्ठ मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय भवानीपुर से तृणमूल उम्मीदवार हैं। इन तीनों की किस्मत का आज ईवीएम में कैद होगा।
चारों सीटें हैं तृणमूल के कब्जे में, ऐसे रहे 2016 के नतीजे
कोलकाता पोर्ट, भवानीपुर, रासबिहारी व बालीगंज। दक्षिण कोलकाता के इन चारों सीटों पर ही तृणमूल कांग्रेस ने 2016 में अपनी जीत हासिल की है।
कोलकाता पोर्ट – कोलकाता पोर्ट में तृणमूल के उम्मीदवार फिरहाद हकीम को 73,459 वोट मिले थे। कांग्रेस से राकेश सिंह – 46,911 वोट मिले थे। भाजपा से अवध किशोर गुप्ता – 11,700 वोट मिले थे।
भवानीपुर – भवानीपुर में तृणमूल उम्मीदवार ममता बनर्जी को 65520 वोट मिले थे। कांग्रेस से दीपा दासमुंशी – 40219 वोट मिले थे। भाजपा से चंद्र कुमार बोस – 26299 वोट मिले थे।
रासबिहारी – तृणमूल उम्मीदवार शोभनदेव चट्टोपाध्याय को 60857 वोट मिले थे वहीं कांग्रेस के आशुतोष चटर्जी को 46304 वोट मिले थे। भाजपा के उम्मीदवार समीर बनर्जी को 23381 वोट मिले थे।
बालीगंज – यहां तृणमूल के उम्मीदवार सुब्रत मुखर्जी को 70083 वोट मिले थे। कांग्रेस से कृष्ण देवनाथ को 54858 वोट मिले थे। भाजपा के उम्मीदवार जीवन कुमार सेन को 20622 वोट मिले थे।
यहां चुनावी घमासान
रासबिहारी में तृणमूल उम्मीदवार देवाशिष कुमार, भाजपा उम्मीवार डॉ. सुब्रत साहा के बीच कड़ा मुकाबला माना जा रहा है। वहीं संयुक्त मोर्चा के कांग्रेस से उम्मीदवार आशुतोष चटर्जी भी मैदान में चुनौती दे रहे हैं। सुब्रत साहा सेना के पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल रहे हैं। वहीं देवाशिष कुमार पूर्व एमएमआईसी रहे हैं। बालीगंज में भी जोरदार मुकाबला माना जा रहा है। यहां तृणमूल से उम्मीदवार सुब्रत मुखर्जी हैं जो राज्य के वरिष्ठ मंत्री भी हैं। भाजपा से उम्मीदवार लोकनाथ चटर्जी हैं तथा माकपा से डॉ. फुआद हलीम हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेहला के सरकारी अस्पताल में सौरव ने दिये 2 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोविड संक्रमितों की सहायता के लिए इस बार सौरव गांगुली आगे आये हैं। बेहला के विद्यासागर स्टेट जनरल अस्पताल को उन्होंने 2 आगे पढ़ें »

सेक्स के लिए कितनी फायदेमंद है चॉकलेट ?

कोलकाता : चॉकलेट खाना तो ज्यादातर लोगों को पसंद आता ही है। चाहे वह चॉकलेट आइसक्रीम हो, चॉकलेट केक हो या चॉकलेट से बनी कोई आगे पढ़ें »

ऊपर