शुभेंदु समेत 6 भाजपा विधायकों ने पीएसी के लिए भरा नामांकन

कोलकाता : पब्लिक अकाउंट्स कमेटी (पीएसी) को लेकर तृणमूल और भाजपा के बीच बहस जारी है। एक तरफ पीएसी का चेयरमैन तृणमूल अपनी पार्टी के विधायक को बनाना चाहती है तो वहीं भाजपा चाहती है कि उनका विधायक चेयरमैन बने। इन सबके बीच, बुधवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता और विधायक शुभेंदु अधिकारी समेत 6 भाजपा विधायकों ने पीएसी के लिए नामांकन दाखिल किया। शुभेंदु अधिकारी के अलावा बालुरघाट से भाजपा विधायक अशोक लाहिड़ी, रघुनाथपुर के विधायक विवेकानंद बाउरी, चाकदह के बंकिम चंद्र घोष, कल्याणी के अम्बिका राय और कूचबिहार दक्षिण के भाजपा विधायक निखिल रंजन दे ने भी पीएसी के लिए नामांकन दाखिल किया है। नामांकन दाखिल करने के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए वरिष्ठ भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा, ‘विरोधी पार्टी और सत्ताधारी पार्टी के बीच सामंजस्य कैसे बना रहेगा, इसकी जिम्मेदारी सत्ताधारी पार्टी की भी काफी है। अभी तक ऐसा कुछ स्पीकर या संसदीय मामलों के मंत्री ने नहीं किया है, जब करेंगे तो आगे की कार्यवाही करेंगे। विधानसभा में हमेशा गठनमूलक चीजें होनी चाहिये।’ उन्होंने यह भी कहा कि अगर भाजपा के अशोक लाहिड़ी या फिर किसी अन्य भाजपा विधायक को पीएसी का चेयरमैन नहीं बनाया गया तो फिर भाजपा विधानसभा की किसी कमेटी में शामिल नहीं होगी।
यहां उल्लेखनीय है कि विधानसभा की पीएसी राज्य सरकार के खर्चों का हिसाब रखती है। पारदर्शिता के लिए आम तौर पर इस कमेटी का चेयरमैन विपक्ष के विधायक को ही किया जाता है। हालांकि इस बार मुकुल राय का नाम इसके लिए प्रस्तावित किये जाने की खबर है जिसका भाजपा विरोध जता रही है। भाजपा का कहना है कि मुकुल राय को विधायक रहने का भी अधिकार नहीं है, ऐसे में वह कैसे पीएसी के चेयरमैन के लिए नामांकन दाखिल कर सकते हैं ?

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ी खबरः राज्य में कोविड के एक दिन में 575 नए मामले, 12 की मौत

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के एक दिन में 575 नए मामले दर्ज किए गए। इसके अलावा 12 की मौत हो गई। अब तक आगे पढ़ें »

ऊपर