5000 करोड़ रु. की लागत से श्रीरामपुर में लॉजिस्टिक हब अगले साल हो जाएगा तैयार

  • 144 एकड़ जमीन पर बनेंगे 160 वेयरहाउस

  • कोलकाता में बड़े वाहनों की एंट्री नहीं होने से कम होगा प्रदूषण

मधु सिंह

कोलकाता : श्रीरामपुर में कलकत्ता गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (सीजीटीए) की ओर से कुल 5,000 करोड़ की लागत से बनाया जा रहा लॉजिस्टिक हब अगले साल बनकर तैयार हो जाएगा। निजी सेक्टर में भारत में यह पहला लॉजिस्टिक हब तैयार किया जा रहा है जिसमें कई प्रकार के लॉजिस्टिक सपोर्ट मिलेंगे। इस बारे में सीजीटीए के प्रेसिडेंट प्रभात मित्तल ने सन्मार्ग से कहा, ‘वर्ष 2016 के बिजनेस समिट में राज्य सरकार के परिवहन विभाग के साथ 5000 कराेड़ के एमओयू पर हमारा हस्ताक्षर हुआ था। इसके बाद हमने 5000 करोड़ के निवेश पर श्रीरामपुर में लॉजिस्टिक हब बनाने का निर्णय लिया। वर्ष 2017 में इसके लिए राज्य सरकार से ग्रीन सिग्नल मिला और हमने काम शुरू किया। सड़क और ड्रेनेज संबंधी कार्य पूरे किये जा चुके हैं, अब वेयरहाउस बनाना बाकी है। संभवतः अगले साल तक ये काम पूरा हो जाएगा और उसके बाद इस लॉजिस्टिक हब की शुरुआत हो सकती है।’
लॉजिस्टिक हब में ये रहेंगी सुविधाएं
गोडाउन व भारी वाहनों के लिए ट्रक पार्किंग की सुविधा यहां रहेगी। बाहरी राज्यों से आने वाले सभी ट्रकों की पार्किंग यहां की जा सकेगी। यहां 160 वेयरहाउस बनाये जाएंगे जहां ट्रक अपने सामान अनलोड कर सकेंगे। इसके बाद यहां से छोटी-छोटी गाड़ियों में सामानों को कोलकाता लेकर जाया जाएगा। लगभग 144 एकड़ जमीन पर बनाये जा रहे इस लॉजिस्टिक हब के लिए 60 फीट लम्बी और 50 फीट चौड़ी सड़क बनायी गयी है।
कोलकाता में प्रदूषण होगा कम
चूंकि भारी वाहनों के कोलकाता में आने के कारण प्रदूषण अधिक होता है, ऐसे में लॉजिस्टिक हब में ट्रकों की पा​र्किंग होने से कोलकाता के प्रदूषण में कमी आयेगी। बाहरी राज्यों से आने वाले ट्रक श्रीरामपुर से ही लौट जाएंगे और इससे कोलकाता में ट्रकों के कारण होने वाला ट्रैफिक जाम भी नहीं लगेगा।
यहां रहेगा ड्राइवर ट्रेनिंग स्कूल
इस लॉजिस्टिक हब में ड्राइवर ट्रे​निंग स्कूल भी रहेगा। सीजीटीए द्वारा एक टीम रखी जाएगी जो इच्छुक स्थानीय लोगों को ट्रक ड्राइवर की ट्रेनिंग देगी। यहां उल्लेखनीय है कि पूरे भारत में लगभग 15% ट्रक ड्राइवरों की कमी है जिस कारण मुश्किल होती है। इसके अलावा पेट्रोल पंप, पुलिस चेक पोस्ट, वेब्रिज, पोस्ट ऑफिस और फायर ब्रिगेड जैसी सुविधाएं भी यहां होंगी। ऑटो वर्कशॉप, प्रशासनिक भवन, स्किल डेवलपमेंट सेंटर, फ्यूल स्टेशन, कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स, कॉमन ड्राइवर डॉरमिटरी और प्रशासनिक कार्यालय वर्कशॉप भी इस लॉ​जिस्टिक हब का हिस्सा होंगे।
प्राइमरी स्कूल खोलने पर भी किया जा रहा विचार
इस लॉजिस्टिक हब में ही एक प्राइमरी स्कूल भी खोलने पर विचार किया जा रहा है। यहां आस-पास के लोग अपने बच्चों को पढ़ा सकेंगे। इसके लिए बातचीत चल रही है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

4 दिन में दूसरी बार ईएम बाइपास के मेट्रोपोलिटन ब्रिज पर दिखी दरार

कोलकाता : ईएम बाइपास के मेट्रोपोलिटन ब्रिज पर बीते 4 दिन में दूसरी बार दरार देखी गयी है। ऐसे में दरार वाले हिस्से को बैरिकेड आगे पढ़ें »

ऊपर