सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर 5 लाख की ठगी

करया में फर्जी सरकारी अधिकारी हुआ गिरफ्तार
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : महानगर में एक बार फिर फर्जी सरकारी अधिकारी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। घटना करया थाना इलाके की है। अभियुक्त पर आरोप है कि उसने खुद को सरकारी अधिकारी बताकर एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर उसके पास से 5 लाख रुपये ठग लिए। अभियुक्त का नाम कार्तिक शील है। पुलिस ने उसे बड़तल्ला इलाके से पकड़ा है। शनिवार को उसे अदालत में पेश करने पर पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।
क्या है पूरा मामला
पुलिस सूत्रों के अनुसार जुलाई महीने के अंत में डीसी नॉर्थ ऑफिस में शिकायत दर्ज करायी गयी थी। ठीक इसी तरह की शिकायत करया थाने में दर्ज करायी गयी। तिलजला के अहिरीपुकुर सेकेंड लेन के रहनेवाले मुख्तार आलम ने शिकायत दर्ज करायी कि उसके बेटे को सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर कार्तिक ने उसके पास से 5 लाख रुपये लिए थे। उसे नियुक्त‌ि पत्र भी दिया था लेकिन वह बाद में फर्जी निकला। मुख्तार ने अपनी शिकायत में बताया कि गन एंड शेल फैक्ट्री में नौकरी दिलाने के नाम पर कार्तिक ने तिलजला के दर्जनों लोगों से लाखों रुपये लिए हैं। इसके बाद ही पुलिस ने कार्तिक के बारे में जांच शुरू की। जांच में पता चला कि कार्तिक नीली बत्ती लगी कार लेकर रोजाना घर आना-जाना करता है। इसके बाद ही पुलिस ने कार्तिक को गिरफ्तार किया। हालांकि पूछताछ के दौरान कार्तिक ने पूरी तरह अलग बात बतायी है। कार्तिक ने बताया कि शिकायतकर्ता के साथ उसके पुराने संबंध है। इस संबंध में पुलिस को तथ्य मिले हैं। कार्तिक के अनुसार शिकायतकर्ता ने फ्लैट दिलाने के नाम पर उसके पास से मोटी रकम ली थी। रुपये लेने के बाद उसने फ्लैट नहीं दिया। ऐसे में कार्तिक उससे अपने रुपये वापस मांग रहा था। इसलिए मुख्तार ने उसे झूठे मामले में फंसा दिया। पुलिस अभी भी आर्थिक लेनदेन के कागजात खोज रही है। किस कारणवश यह लेनदेन हुआ पुलिस इसकी जांच कर रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सियालदह तक मेट्रो की सौगात नए साल में

सियालदह तक मेट्रो शुरू करने की कवायद में जुटा प्रबंधन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः ईस्ट वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर के तहत कोलकाता मेट्रो रेलवे कॉरपोरेशन (केएमआरसीएल) ने सियालदह मेट्रो आगे पढ़ें »

ऊपर