5 मिनट में उसने शिक्षक समेत तीनों को उतारा था मौत के घाट !

murshidabad

कोलकाता : मुर्शिदाबाद में तीहरे हत्याकांड की गुत्थी आखिरकार पुलिस ने सुलझा ली है, ऐसा दावा है पुलिस का। इस मामले में पुलिस ने मुख्य अभियुक्त उत्पल बेहरा को गिरफ्तार कर​ लिया है। पुलिस के अनुसार, अभियुक्त ने परिवार के तीन लोगों की हत्या की बात स्वीकार कर ली है। 20 वर्षीय उत्पल बेहरा को सोमवार की रात मुर्शिदाबाद के सागरदिघी में साहापुर इलाके से​ गिरफ्तार किया गया। मुर्शिदाबाद में ​शिक्षक बंधु प्रकाश पाल, उनकी गर्भवती पत्नी ब्यूटी पाल और 8 वर्षीय बेटे अंगन पाल की हत्या कर दी गयी थी। इस हत्याकांड को लेकर राज्य की कानून – व्यवस्था पर लगातार कई सवाल खड़े किये जा रहे थे।
सवाल जिसके जवाब देने होंगे पुलिस को
हालांकि इस हत्याकांड और अब इसकी गुत्थी सुलझने के बाद भी कई सवाल मुंह बाये खड़े हैं। सबसे पहला सवाल कि आखिर कितना बाहुबली था अभियुक्त उत्पल जिसने केवल 5 मिनट में 3 हत्याएं कर दी ? वाह रे वाह। 5 मिनट में 3 लोगों की हत्या और वह भी गोलियों से नहीं बल्कि केवल एक धारदार हथियार से। एक मुर्गी को भी काटने में कुछ मिनट लग जाते हैं, लेकिन गिरफ्तार अभियुक्त ने अकेले 5 मिनट में 3 लोगों की हत्या कर दी ? जिनकी हत्या की गयी, आखिर उन लोगों ने प्रतिरोध तो किया होगा ? क्या पुलिस पर है इस मामले को सॉल्व करने का भारी दबाव ? पुलिस को इन सवालों के जवाब देने होंगे। स्थानीय लोग इस पर सवाल खड़े करते हुए कह रहे हैं कि कैसे एक दुबला – पतला आदमी तीन – तीन हत्याएं कर वहां से भाग निकला।
क्यों हुई हत्या ?
पुलिस ने इस मामले में बताया कि प्रकाश पाल और उत्पल बेहरा के बीच आर्थिक लेन- देन को लेकर विवाद हुआ था। मुर्शिदाबाद के एसपी मुकेश कुमार ने कहा, ‘प्रकाश पाल बीमा कंपनी का एजेंट था। उत्पल ने प्रकाश पाल के द्वारा 11 वर्षीय टर्म पॉलिसी 24,167 रुपये के प्रीमियम पर करवायी थी। उत्पल काे पहली पॉलिसी की रसीद प्रकाश ने दी थी मगर दूसरी पॉलिसी की रसीद नहीं दी। जब उत्पल ने प्रकाश से रुपये वापस लौटाने को कहा तो प्रकाश ने उससे गाली – गलौच भी की। इस पर उत्पल ने अपमानित महसूस करते हुए प्रकाश की हत्या करने की ठान ली। प्रकाश की पत्नी और बेटे को इसलिए उसने मार डाला क्योंकि वे दोनों उत्पल को जानते थे।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

Rahul Gandhi

झारखण्ड में 10 हजार लोगों पर राजद्रोह का मुकदमा, राहुल बोले-कोई सरकार ऐसा कैसे कर सकती है

नई दिल्ली : झारखंड में दस हजार लोगों के खिलाफ राजद्रोह का मामला लगा दिया गया है। इसे लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आगे पढ़ें »

Rain of currency

आधे घंटे तक हुई नोटों की बारिश, लूटने के लिए लोगों में होड़

कोलकाता : महानगर में डलहौजी इलाके के बेंटिक स्ट्रीट मेें बुधवार की दोपहर अचानक एक कमर्शियल बिल्डिंग से नोटों की बारिश होने लगी। दरअसल, हुआ आगे पढ़ें »

ऊपर