खड़गपुर में स्कूल का ताला बंद क्लास से 46 पंखे गायब

आंध्रा हाई स्कूल की घटना
सन्मार्ग संवाददाता
खड़गपुर : खड़गपुर में चोरी की एक अजीब घटना सामने आई है। यहां स्कूल का ताला बंद है मगर क्लास में लगे सभी के सभी 46 पंखे गायब है। यह घटना वार्ड 18 में स्थित आंध्रा हाई स्कूल की है। क्लास रुम में लगे पंखे चोर खोल ले गए। हैरानी की बात यह है कि चोरों ने न तो स्कूल के मेन गेट के दरवाजा का ताला तोड़ा और न ही स्कूल के भीतर के दरवाजे के ताले को ही कोई क्षति पहुंचाई। इसके बावजूद स्कूल के सभी क्लास रूम में लगे हुए सिलिंग फैन गायब पाए गए। कुछ शिक्षक शुक्रवार को सुबह जब स्कूल में पहुंचे तो चोरी की इस घटना के बारे में जानकारी मिली। चोरों ने स्कूल में केवल आॅफिस रूम में लगे हुए पंखे को ही सही सलामत छोड़ दिया था। जबकि स्कूल के सभी क्लास रूम में लगे पंखों पर चोरों ने आसानी से हाथ साफ कर दिया। चोरी की यह घटना सामने आने के बाद स्कूल की ओर से शुक्रवार को ही खड़गपुर टाउन थाने में एक लिखित शिकायत जमा कराई गई। शिकायत मिलने के बाद टाउन थाने की पुलिस भी स्कूल में पहुंची तथा चोरी की इस घटना के बारे में छानबीन शुरू की। स्कूल परिसर में एक व्यक्ति सपरिवार रहता है। पुलिस की ओर से उक्त व्यक्ति से इस चोरी के बारे में पूछताछ भी की गई, लेकिन वह ज्यादा कुछ बता पाने में असमर्थ रहा। जिसके बाद सच्चाई जानने के लिए पुलिस उक्त व्यक्ति को अपने साथ थाने में ले आई। उससे पूछताछ चल रही है। आंध्रा उच्च माध्यमिक स्कूल प्रबंध समिति के अध्यक्ष डी राममोहन राव ने कहा कि सभी क्लास रूम से पंखों की चोरी हुई है। कुल 46 सिलिंग फैन पर चोरों ने हाथ साफ किया है। हैरानी की बात यह है कि स्कूल के मेन गेट व भीतर के दरवाजे का ताला सही सलामत बंद पाया गया। इसके बावजूद स्कूल के सभी क्लास रूम से पंखों की चोरी हो गई। खड़गपुर टाउन थाना के आईसी विश्वरंजन बनर्जी ने कहा कि आंध्रा स्कूल में सभी क्लास रूम से सिलिंग फैन चोरी होने की शिकायत मिली है। मामले की जांच पड़ताल चल रही है। अभियुक्तों को गिरफ्तार करने की कोशिश जारी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बस एक क्लिक में पढ़े अब तक की बड़ी खबरें

1.अमित शाह ने श्रीनगर के नवगांव में शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी को दी सरकारी नौकरी, परिवार से मिले। 2. अभिषेक के निशाने पर रहीं भाजपा व आगे पढ़ें »

ऊपर