दो वैक्सीन का ट्रायल हो सकता है ट्रॉपिकल व नाइसेड में

कोलकाताः कोरोना वायरस महामारी के बीच इन दिनों वैक्सीन को लेकर चर्चाएं जोरों पर हैं। दरअसल बंगाल में सागर दत्त मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल, स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन, नाइसेड में वैक्सीन का ट्रायल होने की बात थी। इसमें अब खबरें सामने आ रही है कि नाइसेड व स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन में वैक्सीन के ट्रायल किए जा सकते हैं। कोलकाता में कोविड-19 की वैक्सीन ‘कोवावैक्स’ का क्लीनिकल ट्रायल दिसंबर के तीसरे सप्ताह से शुरू होने की संभावना जताई गई है।

दिसंबर में वैक्सीन के सैकड़ों नमून लाए जाएंगे कोलकाता

सूत्रों की मानें तो इसे लेकर पुणे से वैक्सीन के सैकड़ों नमूने दिसंबर महीने में कोलकाता में लाए जा सकते हैं। दरअसल कोवावैक्स अमरीका में तैयार की गई वैक्सीन ‘नोवावैक्स’ का भारतीय प्रतिरूप है। पुणे स्थित सिरम इंस्टिट्यूट व आइसीएमआर के संयुक्त प्रयास से कोरोना की वैक्सीन का भारत में क्लीनिकल ट्रायल शुरू किया जाने वाला है। कोलकाता में इसका क्लीनिकल ट्रायल मुख्य रूप से स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन (एसटीएम) में होने की बात है।

ट्रॉपिकल में हुई बैठक, आ रहे वोलंटियर के आवेदन भी

स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन के सूत्रों की मानें तो उनके पास कोरोना की वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल के लिए वोलेंटियर बनने को आवेदन आने भी शुरू हो चुके। क्लीनिकल ट्रायल में प्रमुख अनुसंधानकर्ता डॉ. शांतनु त्रिपाठी लम्बे समय से विभिन्न अनुसंधान में लगे हुए हैं। उनका भी बयान सामने आ रहा है कि ‘जो लोग कोरोना संक्रमित नहीं हुए हैं, वे ही इसके लिए वोलेंटियर बन सकते हैं। इसमें कहा जा रहा है कि अब तक कोरोना की विभिन्न वैक्सीन को लेकर देश-विदेश में जहां भी क्लीनिकल ट्रायल किए गए हैं, उसमें कम ही वोलेंटियरों पर कोरोना की वैक्सीन का किसी प्रकार का प्रभाव नजर आया है।’ ट्रॉपिकल ऑफ मेडिसिन में क्लीनिकल ट्रायल शुरू होने पर इसके अगले साल जुलाई-अगस्त महीने तक पूरा होने की उम्मीद है। इसका अर्थ है कि लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन के लिए अभी थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना के यूके के तीन नए स्ट्रेन सामने आए, ब्राजिल का एक स्ट्रेन भी चिन्ह्ति

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में तीन लोगों में ब्रिटेन के नए कोविड ​​-19 स्ट्रेन का पता आगे पढ़ें »

आजमाएं धूप के ये टोटके, सभी परेशानियां होंगी दूर

नई दिल्ली : सनातन धर्म में धूप-दीप और हवन का खास महत्व है। कई परिवार में रोजाना धूप-दीप दिखाया जाता है। कहते हैं कि धूप आगे पढ़ें »

ऊपर