2 साल पहले बनी पानी टंकी ताश के पत्ते की तरह ढही

16 गांवों में होती थी पानी सप्लाई
सन्मार्ग संवाददाता
बांकुड़ा : निर्माण के तीन वर्ष पूरा होने से पहले ही ताश के पत्ते की तरह पीएचई की पानी टंकी ढह गयी। यह घटना बुधवार अपराह्न करीब साढ़े तीन बजे बांकुड़ा जिले के सारंगा प्रखंड अंतर्गत फतेडांगा गांव की है। यह पानी टंकी इलाके में पेयजल की आपूर्ति के लिए पीएचई की ओर से 2 वर्ष पहले बनायी गयी थी। अचानक लोगों के आंखों के सामने यह पानी टंकी जोरदार आवाज के साथ टूटकर गिर पड़ी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पहले पानी टंकी के बीचो-बीच कड़कड़ाहट की आवाज सुनाई दी। यह सुनकर गांव के लोग वहां जुटने लगे। टंकी के निकट एक गाय बंधी थी, खतरे को भांपते हुए लोगों ने गाय को तुरंत वहां से हटाया। इसके 10 मिनट के अंदर पानी टंकी गिरकर जमींदोज हो गयी। उन लोगों ने कहा कि इस पानी टंकी से गरगरिया और विक्रमपुर ग्राम पंचायत अंतर्गत 15 से 16 गांवों में पानी सप्लाई होती थी। जिला अधिकारी डॉ. उमाशंकर एस ने कहा कि विभाग की ओर से जांच कमेटी का गठन किया गया है। रिपोर्ट आने के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। बांकुड़ा जिला के वाटर सप्लाई डिपार्टमेंट के असिस्टेंट इंजीनियर सुमन प्रामाणिक ने कहा कि कोलकाता की एक संस्था ने पानी की टंकी का निर्माण किया है। पांच वर्षों तक प्रोजेक्ट के संचालन का जिम्मा उक्त संस्था के हाथ है।
आरोप – प्रत्यारोप शुरू
बांकुड़ा के सांसद डॉ. सुभाष सरकार ने कहा कि कटमनी और सिंडिकेट तृणमूल कांग्रेस का अभिन्न अंग हैं। यह इस घटना से प्रमाणित हो चुका है। वे लोग अनुब्रत मंडल और फिरहाद हकीम से इस विकास के बारे में सवाल करेंगे। उन्होंने कहा कि पीएचई और जिला प्रशासन घटना की जांच कर जिम्मेवार लोगों के विरुद्ध कार्रवाई करे। जिला परिषद के मेंटर अरूप चक्रवर्ती ने भाजपा के आरोप को निराधार बताया। उन्होंने कहा कि जहां पानी टंकी थी, वहां की मिट्टी नरम होने के कारण यह घटना हुई है। ग्रामीणों को पानी के लिए चिंतित होने की जरूरत नहीं है। गुरुवार तक बायपास लाइन से पानी सप्लाई शुरू कर दी जायेगी।
घटना का वीडियो बनाने में जुटे थे युवा
पानी टंकी के गिरने की घटना को वहां फतेडांगा गांव में मौजूद दर्जनों ग्रामीणों ने देखा। ग्रामीणों का आरोप है कि इस प्रकार की घटना निर्माण कार्य में निम्मस्तरीय सामग्री का उपयोग किये जाने के कारण ही घटी है। वहीं युवा पीढ़ी अपने मोबाइल फोन से इस घटना का वीडियो बनाने में जुटी। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है।
मंत्री सुब्रत मुखर्जी ने किया था वाटर प्रोजेक्ट का उद्घाटन
15 मार्च 2017 को सारंगा के कुसुमटिकरी मैदान में मंत्री सुब्रत मुखर्जी ने 165 करोड़ की लागत से बने वाटर प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया था जिसमें यह जलटंकी भी शामिल थी। बताया जा रहा है कि प्रोजेक्ट के उद्घाटन के कुछ समय के बाद ही कई जगहों पर पानी सप्लाई ठप पड़ गयी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

इन तरीकों से ढलती उम्र में भी रह सकती हैं स्वस्थ और खूबसूरत, पढ़ें

नई दिल्ली : कुछ लोग बढती उम्र को भी मात दे देते हैं, बॉलीवुड अभिनेत्री रेखा भी उन्हीं लोगों में शामिल हैं वो आज भी आगे पढ़ें »

भारत- न्यूजीलैंड अभ्‍यास मैच ड्रा, अग्रवाल व पंत फार्म में लौटे

हैमिल्टन : मयंक अग्रवाल ने रविवार को यहां भारत के न्यूजीलैंड एकादश के खिलाफ ड्रा हुए अभ्यास मैच में अपने जन्मदिन के मौके पर रन आगे पढ़ें »

सिलेक्टर चयन : बीसीसीआई के इनबॉक्स से शिवरामाकृष्णन का आवेदन डिलीट

टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया व इंग्लैंड के खिलाफ पिंक बॉल से डे-नाइट टेस्ट को तैयार : गांगुली

modi & trump

केम छो ट्रंप कार्यक्रम का नाम बदलकर हुआ नमस्ते ट्रंप

delhis

जामिया समिति ने छात्रों पर हमला कर रहे अर्द्धसैनिक बलों का वीडियो जारी किया

rakul sunny

रकुल प्रीत ने लिया अपने जीवन का सबसे बड़ा फैसला, सनी लियोन ने खाई ये कसम

bigg boss

‘बिग बॉस 13’ के विजेता बने सिद्धार्थ शुक्ला, लगा बधाइयों का तांता

modis

हम सीएए और अनुच्छेद 370 से जुड़े अपने फैसलों पर कायम हैं और रहेंगे : पीएम मोदी

himalaya

सेटेलाइट फोन से होगी हिमालय क्षेत्र में सैलानियों की त्वरित चिकित्सा सहायता सेवा

ऊपर