उत्तर 24 परगना : 16 सीटों पर आज होंगे मतदान

election

283 कंपनियों ने संभाला मोर्चा
कोविड परिस्थिति का रखा जायेगा पूरा ध्यान
बैरकपुर/बारासात : राज्य के सबसे अधिक विधानसभा सीटों वाले उत्तर 24 परगना जिले में आज 16 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा। इसको लेकर प्रशासन की ओर से पूरी तैयारी की गयी है। पांचवे चरण चुनाव में जिले के पानीहाटी, कमरहट्टी, बारानगर, दमदम, विधाननगर, राजारहाट-न्यूटाउन, राजारहाट-गोपालपुर, मध्यमग्राम, बारासात, बशीरहाट दक्षिण, बशीरहाट उत्तर, देगंगा, हाड़वा, मिनांखा, हिंगलगंज, संदेशखाली सीटों पर खड़े कुछ 110 प्रार्थियों के लिए 39,82,191 मतदाता आज गणतंत्र के इस सबसे बड़े उत्सव में भाग लेंगे। इसके लिए प्रशासन की ओर से 5493 बूथों में वोट ग्रहण किया जायेगा जिसमें इस बार महिला परिचालित बूथों की संख्या 623 है। प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार जिले की इन 16 सीटों पर 80 साल से अधिक उम्र के मतदाताओं की संख्या उल्लेखनीय है। यहां 76200 बुजुर्ग मतदाताओं के लिए प्रशासन की ओर से उनकी सहूलियत व मांग के अनुसार घर पर ही वोट ग्रहण की व्यवस्था कर दी गयी वहीं इन बुजुर्ग मतदाताओं के लिए प्रशासन की ओर से हर तरह की सहायता भी उपलब्ध करवायी जायेगी। चुनाव के दौरान किसी भी बूथ पर कोई गड़बड़ी ना हो इसके लिए प्रत्येक बूथ पर ही सीएपीएफ की निगरानी होगी। वोट के दौरान कोविड परिस्थितियों का भी पूरा ध्यान दिया जायेगा। मतदाताओं को थर्मल गन टेस्ट, सैनिटाइजर व ग्लब्स का इस्तेमाल करना अनिवार्य होगा। वहीं जिले की इन सभी सीटों पर चुनाव करवाने के लिए 283 कंपनियों ने शुक्रवार से ही मोर्चा संभाल लिया है। चुनाव को लेकर माहौल में किसी तरह की गड़बड़ी ना हो या फिर अशांति ना फैले इसके लिए बूथों के निकट चौकसी कर दी गयी है। बॉर्डर के निकटवर्ती इलाकों पर भी केंद्रीय वाहिनी व पुलिस प्रशासन की ओर से विशेष ध्यान दिया गया है। वहीं प्रशासन व चुनाव आयोग की ओर से माइकिंग व अन्य तरीकों से लोगों को आश्वस्त किया जा रहा है कि मतदाता कोविड परि​स्थितियों को ध्यान में रखते हुए गणतंत्र के इस उत्सव में अपना योगदान जरूर दें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या रात में ब्रा पहन कर सोना चाहिए? जानें इस पर क्या है एक्सपर्ट की राय

कोलकाता : अक्सर महिलाएं इस बात को लेकर काफी परेशान रहती हैं कि क्या रात को ब्रा उतार कर सोना चाहिए या नहीं। जहां कुछ आगे पढ़ें »

लोकल ट्रेनें बंद : रेलवे हॉकरों के सामने एक बार फिर जीने-मरने का सवाल

कब रेलवे स्टेशनों पर होगी चमक, दुकानदार हैं इंतजार में सियालदह से 3 शाखाओं में ट्रेनों में हॉकरी करते हैं 37 हजार हॉकर हावड़ा/कोलकाता : आगे पढ़ें »

ऊपर