पुलिस अधिकारी बनकर युवकों से ठगे 11.60 लाख

पुलिस में नौकरी दिलाने के नाम पर 3 युवकों से की ठगी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : खुद को पुलिस अधिकारी बताकर बेरोजगार युवकों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले जालसाज को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। घटना पर्णश्री थाना इलाके की है। अभियुक्त का नाम पार्थ दत्ता है। वह डायमंड हार्बर रोड का रहनेवाला है। उसके पास से कोलकाता पुलिस की स्ट‌िकर लगी बाइक भी जब्त की गयी है। मंगलवार को उसे अदालत में पेश करने पर अदालत ने उसे पुलिस हिरासत में भेज दिया।
क्या है पूरा मामला
पुलिस के अनुसार कुछ दिनों पहले दक्षिण 24 परगना के विष्णुपुर के रहनेवाले बापन सरदार नामक व्यक्ति ने पार्थ दत्ता के खिलाफ ठगी की शिकायत दर्ज करायी। बापन ने अपनी शिकायत में बताया कि कुछ दिनों पहले उसकी मुलाकात पार्थ से हुई थी। पार्थ खुद को कोलकाता पुलिस का वरिष्ठ अधिकारी बताकर लोगों पर रौब जमाता था। अभियुक्त ने कहा था कि उसका कई वरिष्ठ अधिकारियों से परिचय है। अगर युवक चाहे तो वह उसकी नौकरी पुलिस में लगवा देगा। आरोप है कि अभियुक्त ने बापन और उसके साथियों के पास से विभिन्न मौके पर 11.60 लाख रुपये पुलिस की नौकरी दिलाने के नाम पर ले लिए। आरोप है कि रुपये लेने के बाद जालसाज ने न ही उन्हें नौकरी दिलायी और न ही उनके रुपये वापस किए। ठगी के शिकार होने का पता चलने पर उन्होंने अभियुक्त के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करायी। मामले की जांच के दौरान पुलिस ने अभियुक्त को उसके घर से धर-दबोचा। पुलिस की प्राथमिक जांच के अनुसार अभियुक्त खुद को लालबाजार के एआरएस विभाग का अधिकारी बताता था और इलाके के युवकों को पुलिस में नौकरी दिलाने की बात कहता था। अभियुक्त ने दर्जनों युवकों से हजार से लेकर लाखों रुपये तक लिए हैं। फिलहाल अभियुक्त से पूछताछ कर पुलिस मामले की सच्चाई का पता लगा रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अगले 3 दिनों में कई और नेता तृणमूल में हो सकते हैं शामिल

भाजपा के शिविर में और होंगे ‘धमाके’ सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : लोकसभा सांसद बाबुल सुप्रियो ने भाजपा छोड़ तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया है। आने वाले आगे पढ़ें »

ऊपर