105 करोड़ की हेरोइन के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार

कोलकाता : टाला थानांतर्गत पाइकपाड़ा इलाके में 105 करोड़ की हेरोइन के साथ एसटीएफ अधिकारियों ने दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। अभियुक्तों के नाम जुबैर (40) और मौलाना फैयाजुद्दीन (49) हैं। जुबैर यूपी के बहराइच और फैयाजुद्दीन मणिपुर के थौबल का रहनेवाला है। अभियुक्तों के पास से 25.25 किलो हेरोइन बरामद की गई है। मंगलवार को दोनों को बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया और अदालत ने उन्हें 4 फरवरी तक पुलिस हिरासत में भेजे जाने का आदेश दिया।
क्या है पूरा मामला ?
डीसी एसटीएफ प्रदीप कुमार यादव ने बताया कि सोमवार को एसटीएफ अधिकारियों को गुप्त सूचना मिली थी कि कुछ लोग इलाके में ड्रग्स की तस्करी करने वाले हैं। इसके आधार पर सोमवार की रात से ही इलाके में एसटीएफ अधिकारी निरानी कर रहे थे। सोमवार की रात को 1.35 बजे पाइकपाड़ा में एसटीएफ के एटीएस सेल के अधिकारियों ने दो संदिग्ध लोगों को पकड़ा। जांच के दौरान उनके पास से 25 किलो हेरोइन बरामद की गई। एसटीएफ अधिकारियों के अनुसार दुबैर के पास से 20 किलो और मौलाना फैयाजुद्दीन के पास से 5 किलो हेरोइन बरामद की गई। यह लोग हेरोइन लेकर कोलकाता पहुंचे थे। दोनों मिलकर एक अन्य ड्रग्स मिलाकर नयी हेरोइन बनाने वाले थे, लेकिन इससे पहले ही एसटीएफ अधिकारियों ने उन्हें पकड़ लिया। एसटीएफ अधिकारियों के अनुसार यह कोलकाता ही नहीं बल्क‌ि बंगाल व उत्तर पूर्वी राज्यों में पुलिस द्वारा पकड़ा गया ड्रग्स का सबसे बड़ा खेप है।
सोमवार को ही दोनों आए थे कोलकाता
एसटीएफ अधिकारियों के अनुसार जुबैर सोमवार की शाम को ही ट्रेन के जरिए यूपी से कोलकाता पहुंचा था। वहीं मौलाना भी अगरतल्ला के रास्ते ट्रेन से कोलकाता पहुंचा था। सोमवार की शाम दोनों के मिलने की बात थी। दोनों बैग में हेरोइन लेकर घूम रहे थे, इसलिए किसी तो उनपर संदेह नहीं हुआ। एसटीएफ अ‌धिकारियों के अनुसार इससे पहले भी दोनों कोलकाता में हेरोइन की तस्करी कर चुके हैं। एसटीएफ सूत्रों के अनुसार दोनों तस्कर हेरोइन को कोलकाता एवं बांग्लादेश में सप्लाई करने वाले थे।
कैरियर का काम करते हैं दोनों तस्कर
डीसी एसटीएफ ने बताया कि गिरफ्तार दोनों तस्कर ड्रग्स डिलर्स के लिए कैरियर का काम करते हैं। उनमें से जुबैर लोकल हॉकर का काम करता है। वहीं मौलाना खेतों में मजदूरी का काम करता है। दोनों ही ड्रग्स डिलर्स के कहने पर हेरोइन लेकर कोलकाताआए थे। ये कोलकाता के विभिन्न छोटे-बड़े तस्करों को माल सप्लाइ करने के लिए पहुंचे थे। फिलहाल एसटीएफ अधिकारी अभियुक्तों से पूछताछ कर उनके अन्य साथियों का पता लगा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 : रीजिजू ने खिलाड़ियों को व्यस्त रखने की पहल की समीक्षा की

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने कोविड-19 महामारी के कारण 21 दिन के लॉकडाउन (राष्ट्रव्यापी बंद) के मद्देनजर मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण आगे पढ़ें »

प्रतिभा तलाशना मेरा काम था, युवा विराट कोहली में गजब की प्रतिभा थी : वेंगसरकर

नयी दिल्ली : दिलीप वेंगसरकर को प्रतिभाओं को तलाशने के मामले में भारत के सबसे अच्छे चयनकर्ताओं में से एक माना जाता है जिन्होंने पहली आगे पढ़ें »

ऊपर