1000 करोड़ का मालिक है अंतरराष्ट्रीय तस्कर एनामुल

 

मुर्शिदाबाद : बुधवार को सीबीआई की एक टीम मुर्शिदाबाद जिले के लालगोला थानांतर्गत नसिपुर में कुख्यात मवेशी तस्कर एनामुल हक के बंगले पर छापामारी के लिए गयी लेकिन वहां ताला लगा होने के कारण टीम को वहां निराशा हाथ लगी। करीब दो घंटे तक एनामुल के संभावित ठिकानों पर छापेमारी के बाद पुलिस उसके दाहिना हाथ माने जाने वाले यूसूफ शेख के घर गयी लेकिन वहां यूसूफ भी नदारद पाया गया। दोनों स्थानों पर मवेशी तस्करों के नहीं पाये जाने के बाद सीबीआई की टीम बंगलादेश सीमांत के रघुनाथगंज स्थित बौआघाट सहित तस्करी के लिए माकूल माने जाने वाले ठिकानों के परिदर्शन कर वहां की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा भी लिया।पूर्व में गिरफ्तार कुछ मवेशी तस्करों के रिकार्डेड बयान के आधार पर ही सीबीआई के अधिकारी यहां छापेमारी के लिए आये थे।
देशव्यापी नेटवर्क चलाता है एनामुल
उल्लेखनीय है एनामुल हक पिछले काफी अरसे से गाय सहित अन्य मवेशियों की तस्करी में शामिल रहा है। पूरे देश में उसका नेटवर्क काम करता है। एनामुल को अब अंतरराष्ट्रीय स्तर के मवेशी तस्करों में गिना जाता है। देश में मवेशियों की तस्करी में शामिल गिरोह का वह मास्टरमाइंड है। कोलकाता सहित मुर्शिदाबाद के लालगोला और मालदह के विभिन्न सीमांतों से वह आये दिन सैंकड़ों की संख्या में गाय और अन्य मवेशियों की तस्करी करता है। यहां का पूरा नेटवर्क वह नियंत्रित करता है।
बंगलादेश और मलेशिया में फैला है कारोबार
सूत्र बताते हैं कि एनामुल की संपत्ति पर आधारित बिजनेस उसके तीनों भगना ही संभालते हैं। उनमें एक बंगलादेश में स्थायी तौर पर बस गया है वहीं एक मलेशिया में पैर जमाने की कोशिश कर रहा है। प्रत्यक्ष तौर पर वहां भले उसका भगना संपत्ति का मालिक है लेकिन अपरोक्ष रूप से पूरा नियंत्रण एनामुल का ही है। बताया जाता है कि वर्ष सितंबर 2018 में एनामुल को प्रत्यक्ष तौर इलाके में देखा गया था उसके बाद किसी ने उसे नहीं देखा है।
परदे के पीछे काम करता है एनामुल
मवेशी तस्करी की दुनिया में एनामुल का नाम सभी जानते हैं लेकिन उसे सशरीर देखने वाले लोगों की संख्या नगण्य है। यही कारण है अगर वह सीबीआई की टीम के आगे से भी निकल जाये तो उसे पहचानना मुश्किल है। वहीं इलाके के लोग भी उसके खिलाफ किसी तरह की गवाही देने से परहेज करते हैं। एनामुल हक भले ही सशरीर इस धंधे में कहीं दिखता नहीं लेकिन उसके इशारे पर उसके तीन भगने जहांगीर, मेहदी और हुमायूं बंगाल और अन्य राज्यों में कारोबार संभालता है। फिलहाल सीबीआई को उनके तीन भगने का भी पता नहीं चल पाया।

हजारों करोड़ का मालिक है एनामुल

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि मवेशी तस्कर एनामुल हजारों करोड़ रुपये का मालिक है। मुर्शिदाबाद के लालगोला में छापेमारी के लिए आये सीबीआई अधिकारी उसके भव्य बंगले को देखकर हैरान रह गये। वहीं आसपास पूछताछ के दौरान सीबीआई को पता चला कि एनामुल का लालगोला, रघुनाथगंज, कोलकाता और दुबई में भी बंगले और फ्लैट हैं। उसकी अथाह संपत्ति और अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क के कारण ही उसे मवेशी तस्करी का बादशाह भी कहा जाता है।

सीबीआई ने सील किया बीएसएफ अधिकारी का आवास

बीएसएफ के अधिकारी सतीश कुमार के साल्टलेक स्थित आवास पर पहुंची सीबीआई की टीम उनके आवास को सील कर दिया। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक उनके आवास पर कोई मौजूद नहीं था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हैदराबाद ने बेंगलुरु को 5 विकेट से हराया, सनराइजर्स छठवीं जीत के साथ टॉप-4 में पहुंची, बेंगलुरु दूसरे नंबर पर बरकरार

 शारजाह : आईपीएल के 52वें मैच में हैदराबाद ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 5 विकेट से हरा दिया। सनराइजर्स की सीजन में यह छठवीं जीत आगे पढ़ें »

विम्बलडन चैम्पियन हालेप काेरोना संक्रमित

वाशिंगटन : विम्बलडन चैम्पियन सिमोना हालेप ने बताया कि वह कोरोना वायरस जांच में पॉजिटिव आयी है और उनमें इस बीमारी के ‘हलके लक्षण’ है। आगे पढ़ें »

ऊपर