बड़ी खबर : राज्य के सभी संशोधनागारों में 100% वैक्सीनेशन, 25 हजार कैदियों को लगे फर्स्ट डोज

* सजा प्राप्त व ट्रायल वाले सभी कैदियों को दी जा रही है वैक्सीन
* स्वास्थ्य विभाग की टीम को प्रतिनियुक्त किया गया
* जेल के अंदर टीकाकरण केंद्र बनाया गया है
* कई कैदी कोरोना वायरस के संक्रमण के हो चुके हैं शिकार
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कैदियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए राज्य के संशोधनागारों में टीकाकरण अभियान तेज कर दिया गया है। राज्य के सभी संशोधनागारों (जेल) में लगभग अधिक से अधिक कैदियों काे पहला डोज लग चुका है। वहीं दूसरा डोज भी लग रहा है। राज्य के संशोधनागार मामलों के एक अधिकारी ने सन्मार्ग से खास बातचीत में बताया कि पहला डोज लगभग पूरा कर लिया गया है। कैदियों में सजा प्राप्त तथा ट्रायल वाले दोनों तरह के कैदी शामिल हैं, हालांकि ट्रायल वाले कैदियों की संख्या में अंतर होता रहता है।
क्या कहना है मंत्री का
संशोधनागार मामलों के मंत्री उज्ज्वल विश्वास ने बताया कि ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन करने के मकसद को लेकर जेल प्रशासन ने स्वास्थ्य महकमे से चर्चा की और जेल में वैक्सीनेशन अभियान शुरू कर दिया गया है।
एक नजर वैक्सीनेशन के आंकड़ों पर
कुल कैदियों की संख्या – 26500 (थोड़ा अंतर संभव)
18 से 45 उम्र के करीब 19117 कैदियों लगा पहला डोज
लगभग 2663 कैदियों को लगा सेकेंड डोज
45 की उम्र के अधिक करीब 5939 कैदियों को लगा पहला डोज
करीब साढ़े आठ सौ के करीब कैदियों को लगा सेकेंड डोज
जेल कर्मचारियों को भी लग रही है वैक्सीन
कर्मचारियों की कुल संख्या 3491
3397 कर्मचारियों को लगा पहला डोज
2271 कर्मचारियों को दूसरा डोज
कई कैदी संक्रमित हुए थे
अलग-अलग जेलों में भारी संख्या में कैदी भी कोरोना से संक्रमित हुए थे। जेलों में भी उनके बीच मास्क पहनना तथा कोरोना नियमों का मानना अनिवार्य है। एक अधिकारी ने बताया कि जेल में आने वाले सभी नये कैदियों का आरटीपीसीआर व रैट अनिवार्य है। अगर किसी कैदी में लक्षण दिखता है तो उसे अलग रखा जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

चक्रवात गुलाबः स्थितियों से निपटने के लिए नवान्न पूरी तरह अलर्ट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बंगाल में एक बार फिर चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है। अलीपुर मौसम विभाग की माने तो बुधवार को भारी बारिश आगे पढ़ें »

ऊपर