बंगाल में सब कुछ खोलने की घोषणा

कोलकाता :कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के ​लिए लागू लॉकडाउन के 66वें दिन शुक्रवार को बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा राज्य में 1 जून से मंदिर, मस्जिद समेत तमाम धार्मिक स्थल खोले जा सकेंगे। लेकिन बड़े धार्मिक आयोजन की इजाजत नहीं होगी।

1 व 8 जून से 100 प्रतिशत कर्मचारी के साथ होगा काम

चाय और जूट उद्योग में 1 जून से 100 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम हो सकेगा। 8 जून से 100 प्रतिशत सभी कार्यालय खुल जाएंगे। सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में भी 100 प्रतिशत कर्मचारी काम करेंगे।

खुलने के ये रहेंगे नियम

ममता ने स्पष्ट किया कि धार्मिक स्थल खोलने का मतलब यह नहीं है कि वहां भीड़ जुटाई जाए। राज्य सरकार के मुताबिक, यह आदेश 1 जून से लागू होगा। मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा और चर्च समेत तमाम धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति होगी लेकिन अधिकतम 10 लोग ही धार्मिक स्थलों में एकत्र हो सकेंगे।

भरी जा सकेंगी सभी सीट

बसों में 20 नहीं, सभी सीट भरी जा सकती है।

प्रवासियों की वजह से बढ़ रहे हैं मामले

बनर्जी ने कहा, ‘पिछले दो महीनों में पश्चिम बंगाल कोरोना का संक्रमण रोकने में कामयाब रहा है। राज्य में कोरोना के नए मामले इसलिए सामने आ रहे हैं कि लोग दूसरे राज्यों से भी आ रहे हैं।’

श्रमिक नहीं कोरोना एक्सप्रेस ट्रेन 

सीएम ने कहा कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन के नाम पर भारतीय रेल ‘कोरोना एक्सप्रेस’ ट्रेन चला रही है।रेलवे हजारों प्रवासी श्रमिकों को एक ही ट्रेन में भेज रहा है,अधिक ट्रेनें क्यों नहीं दी जा रही हैं।पश्चिम बंगाल पिछले दो महीने में कोविड-19 को फैलने से रोकने में सफल रहा था, लेकिन अब मामले इसलिए बढ़ रहे हैं, क्योंकि बाहर से लोग लौट रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बुधवार को इस विधि से करें गणेश जी के सिद्धि विनायक रूप की पूजा, बन जाएंगे बिगड़े काम

कोलकाता : सप्ताह का हर वार किसी देवी-देवता को समर्पित है। बुधवार का दिन भगवान शंकर और माता पार्वती के छोटे पुत्र गणेश जी का आगे पढ़ें »

ऊपर