होटलों में रूम से लेकर लॉबी, स्पा, डाइनिंग सभी चीजें बदल जाएंगी

पोस्ट लॉकडाउन होटल इंडस्ट्री में बदल जाएगा बहुत कुछ,बंगाल में सामान्य से 7 स्टार तक लगभग 40,000 होटल
सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन ने सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन जैसी चीजें लोगों को सिखा दी हैं। लॉकडाउन भले ही कुछ दिनों के बाद समाप्त हो जाए, लेकिन उसके बाद भी प्रत्येक क्षेत्र में लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग मानते हुए ही काम कारना होगा। इसी तरह होटल व रेस्तरां इंडस्ट्री में भी पोस्ट लॉकडाउन काफी कुछ बदला हुआ नजर आयेगा। जिन रेस्तरां में एक के बाद एक टेबल लगे रहते थे, वे टेबल भी अब 6-6 फीट की दूरी पर रहेंगे।
अब तक हजारों करोड़ का नुकसान हो चुका है होटल इंडस्ट्री को
होटेल्स एंड रेस्टोरेंट्स एसोसिएशन ऑफ ईस्टर्न इंडिया (एचआरएईआई) के सचिव सुदेश पोद्दार ने सन्मार्ग को बताया, ‘बंगाल में छाेटे – बड़े लगभग 40,000 होटल हैं। गत 23 मार्च से बंगाल में लॉकडाउन है। एक होटल को अगर 2 करोड़ की आमदनी हाेती है तो ऐसे में उस 2 करोड़ रुपये का पूरी तरह घाटा हो रहा है। इसका मतलब है कि होटल इंडस्ट्री को 10-15 हजार करोड़ रुपये की आमदनी का नुकसान हो चुका है।’
एक्रिडेशन प्रक्रिया पर जोर देंगे बड़े होटल
हयात होटल्स के सीईओ व अध्यक्ष मार्क होप्लामेजियन ने कहा, ‘कोविड-19 के बाद पूरी दुनिया में बदलाव आयेंगे। रूम से लेकर लॉबी, स्पा, डाइनिंग सभी चीजें बदल जाएंगी। ग्लोबल बायोरिस्क एडवाइजरी काउंसिल (जीबीएसी) की ओर से सभी होटलों में एक्रिडेशन प्रक्रिया की जाएगी। हयात की ओर से जीबैक स्टार्टएम एक्रिडेशन चालू किया जाएगा। इससे परफार्मेंस आधारित सफाई, डिसइंफेक्शन और इंफेक्शस डिसीज रोकथाम कार्यक्रम में मदद मिलेगी। जीबैक विश्वव्यापी क्लीनिंग इंडस्ट्री एसोसिएशन है जो हयात के विश्व भर में 900 से अधिक होटलो के स्टाफ को साफ- सफाई और सैनिटेशन की ट्रेनिंग देगा। इसके साथ ही कार्य की नयी प्रणाली के विस्तार पर भी जोर दिया जा रहा है और गेस्ट की सुरक्षा के लिए आवश्यक ट्रेनिंग भी दी जा रही है। सितम्बर 2020 तक हयात के हर होटल में एक व्यक्ति को हाइजीन मैनेजर के तौर पर रखा जाएगा जो हाइजीन और साफ-सफाई के लिए कलीग सर्टिफिकेशन, ट्रेनिंग और रिसर्टिफिकेशन प्रक्रिया हेतु जिम्मेवार होंगे। अधिक छूने वाले सर्फेस आदि में हॉस्पिटल स्तर के डिसइंफेक्टेंट के व्यवहार पर जोर दिया जाएगा। रेस्तरां, रूम सर्विस, ग्रुप मीटिंग और इवेंट के लिए फूड सेफ्टी व हाइजीन प्राेटोकॉल पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। होटलों के पब्लिक और एम्पलाइ एरिया व एंट्रेंस में हैंड सैनिटाजर की व्यवस्था होगी। सैनिटाइजेशन डिवाइस इंस्टॉल किया जाएगा।’
आईटीसी लिमिटेड के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर नकुल आनंद ने कहा, ‘हाल में हमने मेडिकल प्रोफेशनल्स और डिसइंफेक्शन विशेषज्ञों के साथ मिलकर वी अश्योर कार्यक्रम लांच किया जो हाइजीन और साफ- सफाई के प्रोटोकॉल को और बढ़ावा देगा। नेशनल एक्रिडेशन बोर्ड फॉर हॉस्पिटल्स एण्ड हेल्थकेयर प्रोवाइडर्स (नैभ) द्वारा प्रदत्त मान्यता से सैनिटेशन, हाइजीन, सुरक्षा और इंफेक्शन कंट्रोल में मदद मिलेगी। इसके साथ ही हॉस्पिटल स्तर का हाइजीन स्टैंडर्ड मेंटेन किया जाएगा।’
कुछ इस तरह के आयेंगे बदलाव
एचआरएईआई के सचिव सुदेश पोद्दार ने कहा, ‘पोस्ट लॉकडाउन भी सोशल डिस्टेंसिंग मानना होगा। होटल में किसी गेस्ट के आने पर सबसे पहले उनका लगेज सैनिटाइज किया जाएगा, फिर उन्हें हैंड सैनिटाइजर दिया जाएगा। कोशिश की जाएगी कि गेस्ट होटल की प्री- बुकिंग कर लें और आईडी वगैरह भी डिजीटली भिजवा दे दें ताकि रिसेप्शन में बैठे व्यक्ति से गेस्ट का संपर्क कम से कम हो। वहीं गेस्ट को कमरे की चाबी देने से पहले रूम को पूरी तरह सैनिटाइज किया जाएगा। इसके अलावा वेटर को भी ट्रेनिंग दी जा रही है ताकि वे सोशल डिस्टें​सिंग के नियमाें का पालन करते हुए ऑर्डर लें। चेकआउट के समय भी ई – बिल भेजने की कोशिश कई होटल कर रहे हैं। वहीं गेस्ट से ऑनलाइन पेमेंट लेने की कोशिश की जाएगी। अगर कोई ऑनलाइन पेमेंट नहीं कर पा रहा है तो उसके लिए रिसेप्शन में मास्क और गलव्स पहनकर व्यक्ति बैठा रहेगा और रुपये लेने के बाद उसे अल्ट्रावायोलेट रे मशीन में डाला जाएगा ताकि रुपये सैनिटाइज होकर निकले। सभी होटल खुद को पोस्ट लॉकडाउन के लिए तैयार कर रहे हैं। इसके अलावा रेस्तरां में भी पहले जहां सटे – सटे टेबल होते थे, वहीं अब 6-6 फीट की दूरी पर टेबल रहेंगे।’
फोन पर मेन्यू देंगे कई होटल
कई होटल इस कोशिश में हैं कि गेस्ट काे फोन पर मेन्यू दें ताकि उनका संपर्क वेटर से कम हो। इसके अलावा डायरेक्ट खाना ना देकर मास्क और ग्लवस पहना वेटर एक लम्बी ट्रॉली में खाना रखेगा जो गेस्ट दूर से ही ले सकता है। किचन में भी सोशल डिस्टेंसिंग पर पूरा ध्यान दिया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर