हावड़ा में घर पर रहकर कोरोना की जंग जीती एक परिवार ने

हावड़ा : संक्रमित होकर क्या घर पर रहकर इलाज संभव है। यह लेकर सरकारी निर्देश जारी होने के बाद भी संशय की ​स्थिति बनी हुई थी, लेकिन एक परिवार ने इस मिथ्य को भी सत्य कर दिया। परिवार को कोरोना की जंग में जीत हासिल करने में उनके पड़ोसियों ने भी उनकी मदद की।  हावड़ा का रहनेवाला एक व्यक्ति जो कि 82 की उम्र में संक्रमित हो गया। उसे सास लेने में परेशानी हाे रही थी। इसके बाद उसका स्लैब टेस्ट किया गया। इसके बाद गत 10 मई को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गयी। उन्हें उनकी पोती ने एम आर बांगुड़ अस्पताल में भर्ती किया। इसके बाद रसायन शास्त्र की पढ़ाई कर रही 27 वर्षीय युवती को भी सास लेने में तकलीफ होने लगी। एक ही घर में उसके माता-पिता, दीदी-जीजा और दो साल की भतीजी को भी कोरोना हो गया है। इसके साथ उस वृद्ध की 76 वर्षीय पत्नी में भी कोरोना पॉजिटिव हो गया। युवती, मां, पिता व दमाद भी संक्रमित हो गये।  परिवार ने निर्णय लिया कि वे घर पर ही रहकर क्वारेंटाइंन होंगे इसमें उनके पड़ोसी ने उन्हें दो टाइम का भोजन मुहैया कराया। इसमें स्थानीय पूर्व पार्षद ने भी उनकी मदद की। करीब 14 दिनों के बाद ही सभी ने दोबारा अपना टेस्ट कराया है जो कि नेगेटिव आया है। इसके बाद युवती व उसका परिवार काफी खुश है। युवती ने कहा कि पहले शुरूआत में डर लग रहा था लेकिन स्वास्थ्य नियम को मानते हुए ही यह संभव हो पाया है। हावड़ा नगर निगम के कोरोना संक्रमण के नोडल ऑफिसर डॉ. रमा भुंइया ने कहा कि घर में अगर जगह है तो कोई भी संक्रमित व्यक्ति अपना इलाज नियमानुसार घर पर ही कर सकता है। इस जंज

शेयर करें

मुख्य समाचार

नीतीश कुमार की भतीजी मिली कोरोना संक्रमित

पटना : बिहार में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण से अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का घर भी अलग नहीं रह सका है। राजधानी स्थित आगे पढ़ें »

अब देश में सौर ऊर्जा से चलेंगी ट्रेनें, तैयारियां आरंभ

नई दिल्ली : सौर ऊर्जा से कई रेलवे स्टेशनों की बिजली की जरूरत सफलतापूर्वक पूरी करने के बाद रेलवे जल्द ही इसका इस्तेमाल ट्रेन चलाने आगे पढ़ें »

ऊपर