हम नहीं सुधरेंगे चाहे कोरोना कितना भी कहर ढाये

बदला है हमारा कोलकाता का मिजाज
सबिता राय,काेलकाता : लगभग ढ़ाई महीने के लॉकडाउन से भी कई लोगों ने सबक नहीं लिया। रास्तों पर गाड़ियों से लेकर बाजारों में हलचल को देखकर लगा ही नहीं कई लोगों को अब कोरोना का भय भी है। शायद कुछ लोगों ने अनलॉक 1 को कोरोना के खतरे से भी अनलॉक मान लिया। सबसे चिंता की बात यह है कि अधिकांश लोग तो मास्क पहनने में भी ढिलाई बरत रहे है। कई लोग ऐसे भी दिखे जो मास्क जरूर लगाये थे मगर नाक के नीचे। न तो उनका मुंह ढका था और ना ही नाक। ऐसे लोगों को न तो अपना ख्याल है और ना ही अपने परिवार, दोस्त, रिश्तेदारों का।
सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ीं धज्जियां
सोशल डिस्टेंसिंग को भूलने वाले लोगों ने ठान ली है कि हम नहीं सुधरेंगे। चाहे कुछ भी हो जाए। कोलकाता में इन दिनों कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। संक्रमण व मरने वाले कुल मामलों में कोलकाता टॉप पर है। इसके
बावजूद इन्हें जरा भी डर नहीं। ऐसे लोगों को इस शेर से याद दिलाना चाहते हैं – कोई हाथ भी न मिलाएगा, जो गले लगोगे तपाक से, ये नये मिज़ाज का शहर है, ज़रा फ़ासले से मिला करो…बशीर बद्र का यह शेर कोरोना के संदर्भ में बहुत ही मौजूं हैं।
पिछले 3 दिनों में बेहद ही चौकाने वाले आंकड़े
31 मई – पिछले 24 घण्टे में 371 नए मामले। 8 की मौत (मरने वाले 7 कोलकाता से)
30 मई – कुल नये मामले 317 और 7 की मौत ( मरने वाले 6 कोलकाता से)
29 मई -नये मामले 277 और 7 की मौत (मरने वाले 2 कोलकाता से)
मामलों में कोलकाता टॉप पर
29 मई – 71 नये मामले
30 मई – 80 नये मामले
31 मई – 72 नये मामले
मास्क नहीं लगाने के बहाने भी अजब – गजब
बाजार करने निकली एक महिला ने मास्क तो जरूर लगाया मगर गर्दन पर। मास्क को मुंह से नीचे करके दुकानदार से बात कर रही थी। अब इसे क्या कहेंगे, नासमझी या फिर लापरवाही। वहीं कुछ जगहों पर तो युवक – युवती मास्क को हटाकर सेल्फी भी लेते नजर आये। कुछ लोग तो रास्ते पर बिना मास्क के लिए चल रहे थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रात को किचन में रखें भरी पानी की बाल्टी और बाहर न रखें डस्टबिन फिर देखे कमाल

कोलकाता : रोजमर्रा की जिंदगी में कई छोटी-मोटी चीजें अपनाकर आप अपने घर में बरकत ला सकते हैं। वास्तु और ज्योतिष के हिसाब से अगर आगे पढ़ें »

7 को भाजपा के उम्मीदवारों की हो सकती है घोषणा

मनीष के पिता बैरकपुर से लड़ सकते हैं चुनाव खड़दह से भाग्य आजमा सकते हैं शीलभद्र तो भाटपाड़ा से पवन सिंह सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में विधानसभा आगे पढ़ें »

ऊपर