ममता ने कहा-एक जुलाई से शुरू हो मेट्रो, किये गये बड़े बदलाव

metro

कोलकाता : कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के ​लिए बंद  मेट्रो सेवा को आम जनता की सुविधा के लिए फिर से चालु करने की मांग करते हुए शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि  ‘हम चाहते हैं कि कोलकाता में मेट्रो रेल सेवा एक जुलाई से फिर शुरू हो जाए। पश्चिम बंगाल सरकार ने 31 जुलाई तक बढ़ाए गए कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान रात के कर्फ्यू में ढील दी है और रात दस बजे से सुबह पांच बजे तक ही सिर्फ पाबंदियां रहने की घोषणा की है। मतलब अब लोग राज्य में सुबह पांच बजे से रात 10 बजे तक अपना काम कर सकेंगे जो पहले 9 बजे से शाम 5 तक था। उन्होंने कहा कि इस साल सावन मेला नहीं होगा। राज्य सरकार ने उच्च माध्यमिक की शेष परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। 

24 घंटे में कोरोना के 475 नये मामले
राज्य में कोरोना वायरस के मामले में एक बार फिर से वृद्धि देखी जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 475 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा इस अवधि में 15 लोगों की मौत हुई है ।अब तक कोरोना वायरस के कुल 15648 मामले दर्ज हो चुके हैं। इसके अलावा कुल कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 4852 दर्ज की गई है।

डिस्चार्ज रेट 65.12% :

राज्य के स्वास्थ्य विभाग की बुलेटिन के अनुसार राज्य में कोरोना वायरस के ठीक होने का मामला लगातार बढ़ रहा है। साथ ही अब डिस्चार्ज रेट 65.12% पर आ गया है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटों में 488 लोग ठीक होकर के घर गए हैं।

कोलकाता में 5 हजार से ऊपर मामले :

कोलकाता में पिछले 24 घंटे में 163 नए मामले दर्ज किए गए हैं ।इससे केवल कोलकाता में ही कोरोना वायरस के कुल मामले 5133 पर पहुंच गया है। इसके बाद उत्तर 24 परगना में 117 नए मामले मिले है। दूसरी तरफ हावड़ा में 24 घंटे में कुल कोरोना वायरस के 42 और दार्जिलिंग में 32 नए मामले सामने आए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में तीसरे दिन भी कोरोना के 800 से ज्यादा मामले, 25 की हुई मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 850 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

कोरोना की वजह से 9वीं-12वीं के पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटे

नयी दिल्ली : कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों के ना खुल पाने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर असर और कक्षाओं के समय में आगे पढ़ें »

ऊपर