स्पाइडरमैन की तरह उसने बचाया लोगों को

कोलकाता : प्रिटोरिया स्ट्रीट में लगी आग पर काबू पाने के लिए जहां एक ओर दमकल की इंजनों ने प्रयास किया। वहीं स्पाइडरमैन की तरह पहुंचे व्यकि्त ने लोगों की जान बचाई। पलक झपकते ही वह एकसे दूसरे पर पहुंच गया व लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। स्थानीय लोगों ने भी आग को बुझाने में भरपूर सहयोग दिया। डीसी साउथ प्रवीण त्रिपाठी ने बताया कि आग की घटना में फंसे लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया था। 8 लोगों को प्राथमिक इलाज के बाद छोड़ दिया गया। आग बुझाने के लिए दमकल के 10 वाहनों को लगाया गया। स्थानीय लोगों और अग्निशमन विभाग के कर्मियों के सहयोग से कम से कम 30 लोगों को भवन से सुरक्षित बाहर निकाला गया। आग लगने के बाद आपदा प्रबंधन टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आग बुझाने में दमकलकर्मियों के साथ सहयोग किया और दमकल विभाग के प्रमुख जगमोहन  और कोलकाता नगर निगम के मेयर व दमकल मंत्री शोभन चटर्जी ने व्यक्तिगत रूप से घटनास्थल पर पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया। चटर्जी ने बताया कि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ।कुछ लोग गैस रिसाव से बीमार हो गए थे, जिन्हें बाद में अस्पताल में भर्ती कराया गया। स्थानीय लोगों की मानें तो अचानक एक ब्लास्ट की आवाज आई। इसके बाद चारों ओर धुआं सा छा गया। धुएं ने विकराल रूप धारण कर लिया। पास ही अभिनव भारती हाई स्कूल है। इसमें कक्षाएं संचालित हो रही थीं। आवाज सुनकर लोग सचेत हो गए, इसके बाद तुरंत बच्चों को सुरक्षित ऊपरी तल से नीचे उतारा गया। स्थानीय लोगों का आरोप है कि सड़क संकरी होने के बावजूद वहां बाइक व गाड़ियों को पार्क किया जाता है। इस वजह से दमकल इंजनों को उक्त इमारत तक आने में थोड़ी परेशानियों का सामना करना परड़ा।   इस आग की घटना ने एक बार फिर से स्टीफन कांड की याद दिला दी। उस दौरान भी लोग खिड़कियों पर बचाओ-बचाओ का शोर मचाने लगे थे। प्रिटोरिया स्ट्रीट में भी लगी आग में लोग धुएं के कारण खिड़कियों पर सहायता के लिए शोर मचाते दिखे।
दो दमकल कर्मी घायल:   
आग की घटना को नियंत्रित करने व लोगों को बचाने के दौरान दमकल के आफताब आलम व मोहम्मद शहाउद्दीन घायल हो गए। एक के पैर में कांच धंस गया व दूसरे के हाथ में कांच से चोट लग गई।

एक नजर में भवन

भवन- 5 तल का
कार्यालय- करीब 12 (रोज कैंडी टी इस्टेट, गेल, चिराग ज्वेलर्स, भुवालका ट्रडिंग व अन्य)
कर्मचारी- तकरीबन 200

बड़ी घटना टली, पास ही थे स्कूल व नर्सिंग होम
प्रिटोरिया स्ट्रीट में लगी आग ने भले ही जान-माल को क्षति नहीं पहुंचाई, लेकिन इसके विकराल होने पर स्थिति और भी भयावह हो सकती थी। पास ही अभिनव भारती हाई स्कूल व कुछ ही दूरी पर नाइटेंगल हॉस्पिटल व कुछ ही दूर पर बेल व्यू क्लिनिक भी था। आग के उठते धुएं के कारण प्रदूषण फैलने की संभावना थी। इससे मरीजों को काफी परेशानी हो सकती थी। साथ ही स्कूल के छोटे-छोटे बच्चों को भी धुएं से परेशानी होने की प्रबल संभावना थी। मगर आग लगने के बाद स्कूल की शिक्षिकाओं व इलाके की पार्षद सुष्मिता भट्टाचार्य चटर्जी की तत्परता से बच्चों को स्कूल से बाहर निकाल कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। चटर्जी ने बताया कि जैसे ही उन्हें ऐस्पिरेशन्स विंटेज में आग लगने की खबर मिली तब उनके जहन में सबसे पहली बात पास में स्थित स्कूल की आई। वो तुरंत उक्त स्थान पर पहुंची और स्कूल के गार्ड को स्कूल खाली करने को कहा और पास में स्थित एक खाली जगह पर बच्चों को ले जाने की व्यवस्था की। स्कूल की शिक्षिका निलांजना चटर्जी ने बताया कि स्कूल में नर्सरी से लेकर 12 वीं तक की कक्षा है। छोटे बच्चों की छुट्टी 1.30 बजे व बड़े बच्चों की छुट्टी लगभग 3 बजे होती है। दोपहर के लगभग 1 बजे वह बच्चों को पढ़ा रही थीं। इस दौरान अचानक उनको कुछ जलने की बू आई। पहले तो उन्हें कुछ समझ नहीं आया, लेकिन बाद में जब स्कूल के गार्ड ने आग लगने की खबर दी तब उन्होंने तुरंत अपने सहकर्मियों के साथ मिलकर बच्चों को तुरंत स्कूल के बाहर निकाला और एक सुरक्षित स्थान पर ले गयीं। इसके बाद उन बच्चों के परिजनों को फोन कर घटना की सूचना दी गयी। कुछ बच्चों ने कहा कि जब क्लास रूम में धुआं आने लगा तब उनलोगों को लगा कि केमिस्ट्री लैब में कोई प्रयोग किया जा रहा है। हालांंकि बाद में आग के बारे में ज्ञात होने पर वह लोग स्कूल से बाहर निकले। एक बच्चे की मां लीना सरकार ने बताया कि वह घर पर अपने राेजमर्रा का काम कर रही थीं। तभी अचानक उन्हें स्कूल से फोन आया और उनको घटना की जानकारी मिली। घटना के बारे में सुनते ही तुरंत अपनी गाड़ी निकाली और जल्द से जल्द स्कूल पहुचीं। स्कूल पहुंच कर जब उन्होंने अपने बच्चे को सुरक्षित देखा तब जाकर शांति मिली। जिस बिल्डिंग में आग लगी वहां दमकल कर्मियों ने तुरंत त्वरित कार्रवाई करते हुए आग को बुझाने का काम शुरू किया।

एक नजर में स्कूल

    नर्सरी से 12 वीं तक के बच्चे
    शिक्षिका -लगभग 60
    स्कूल में बच्चों की संख्या – लगभग 1600
    स्कूल में कक्षाओं की संख्या – लगभग 30

कोई लटका पाइप पर तो किसी ने तोड़े कांच
अचानक जोर की आवाज। क्या बजा, क्या हुआ किसी को भनक तक नहीं लगी। फिर धीरे-धीरे धुआं निकलने लगा। धुएं से लोग इधर-उधर दौड़े। 5 तल्ले पर मौजूद रोज कैंडी टी इस्टेट के अरुण अग्रवाल ने धुएं से बचने के लिए कांच को अपने हाथ से ही तोड़ना शुरू कर दिया। इससे उनके हाथ में चोट भी लग गई। जब धुआं निकल रहा था उस दौरान उनके कार्यालय में करीब 8 लोग थे। इसी कार्यालय में कार्यरत कृष्ण कुमार शर्मा ने बताया कि आग तीसरे तल्ले पर लगी थी। हम सब 5 तल्ले पर थे। इससे पहले कि हम सब बाहर निकल पाते धुआं फैल चुका था। एक और व्यक्ति के साथ मैं ऊपर छत पर चला गया। बाद में दमकल के पहुंचने पर हमें नीचे उतारा गया।  यहीं कार्यरत शकलदेव प्रसाद यादव आग की घटना के दौरान बाथरूम में थे। शोर की आवाज सुनकर वह बाहर दौड़े। इसके बाद खिड़की से निकलकर पाइप पकड़कर खड़े हो गए। करीब आधे घण्टे तक वह ऐसे ही पड़े रहे। बाद में जब परिस्थिति कुछ सामान्य हुई तो वह सब कुछ छोड़कर किसी तरह से सुरक्षित बाहर निकले। दमकल कर्मियों की मदद से उन्हें सुरक्षित बाहर निकाला गया।   3 तल्ले पर मौजूद भुवालका ट्रेडिंग में काम करने वाली सपना पुंडू व अशोक गुप्त ने बताया कि पहले जोर की आवाज सुनी। हमें लगा कि बिल्डिंग में कोई काम चल रहा है। बाद में अचानक हर तरफ धुआं निकलने लगा। तुरंत सभी लोग बिल्डिंग के नीचे आ गए।
लोगों के घरों में जा सकता था धुआं
आग की घटना के दौरान निकला धुआं आस-पास के घरों में जा सकता था। हालांकि हवा के कारण धुआं एक ही ओर गया। इससे आस-पास के लोगों को अधिक परेशानी नहीं हुई। हालांकि लोगों ने अपने घरों के कांच बंद कर लिए। काफी लोग सुरक्षावस अपनी बिल्डिंग की छत से नीचे उतर आए।
एक नजर में सामने की स्थिति
12 नंबर प्रिटोरिया स्ट्रीट के पास में जहां स्कूल मौजूद है, वहीं ठीक सामने त्रिपुरा भवन, मिका हाउस सहित अन्य रिहायशी भवन मौजूद हैं। आग के विकराल होने से यहां भी लोगों को धुएं से परेशानी हो सकती थी।

युवकों ने पेश की मानवता की मिसाल

प्रिटोरिया स्ट्रीट स्थित ऐस्पिरेशन्स विंटेज की तीसरे तल्ले पर अचानक आग लगने से पूरे इलाके के लोगों में भय का आलम हो गया था। सभी खुद को बचाने के लिए सुरक्षित स्थानों की तलाश कर रहे थे।
ऐसे में कुछ युवक ऐसे थे जो खुद की परवाह किये बिना इमारत में फंसे लोगों को बाहर निकालने में जुटे हुए थे। पास ही के एक ऑफिस में कार्यरत मंजीत पाठक ने बताया कि आग लगने पर किसी को कुछ पता नहीं चला लेकिन जब इमारत से धुआं निकलने लगा तब स्थानीय लोगों को ज्ञात हुआ कि आग लगी है। धुआं निकलते देख मंजीत तुरंत वहां गये और यह देखने की कोशिश करने लगे कि कोई वहां फंसा हुआ है या नहीं इस दौरान उन्होंने इमारत के पीछे से कुछ लोगों को मदद के लिए गुहार लगाते हुए देखा। यह देख वो तुरंत वहां पर स्थित एक एल्मुनियम की सीढ़ी ले आया और लोगों को उतरने के लिए कहा। इस बीच दमकल कर्मी वहां आ गये और उन्होंने मोर्चा संभाला। वहीं संदीप रजक ने बताया कि उन्होंने इमारत के सामने वाले हिस्से में कुछ लोगों को फंसा हुआ देख उन्हें इशारा कर के सुरक्षित स्थान तक जाने के लिए कहा। उनलोगों को बाहर निकालने के बाद संदीप ने मदद का हाथ बढ़ाते हुए लोगों को एंबुलेंस तक पहुंचाने में दमकल कर्मियों की मदद की।

मुख्य समाचार

सिंधू 2019 में अपने पहले फाइनल में

इंडोनेशिया ओपनः सेमीफाइनल में चेन यू फेई को सीधे सेटों में दी मात जकार्ताः भारतीय टीम की शीर्ष महिला खिलाड़ी पीवी सिंधू ने इस साल किसी आगे पढ़ें »

Mueksh Ambani Salary

11 सालों से नहीं बढ़ रही मुकेश अंबानी की तनख्वाह

मुंबई : देश के सबसे अमीर उद्योगपति और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी की तनख्वाह ​पिछले लगातार 11 सालों से नहीं बढ़ाई जा रही आगे पढ़ें »

धोनी दो महीने के लिए रहेंगे क्रिकेट से दूर…

विंडीज दौरे पर नहीं जाएंगे नई दिल्लीः भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपने भविष्य को लेकर लगाए जा रहे कयास के बीच आगे पढ़ें »

ट्रंप-इमरान वार्ता में लादेन को पकड़वाने वाले डॉक्टर की रिहाई मांगेगा अमेरिका 

 वाशिंगटन : पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपनी बहुचर्तित यात्रा पर अगले हप्‍ते अमेरिका जाने वाले है। अपनी यात्रा के दौरान इमरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड आगे पढ़ें »

प्रियंका गांधी जिस गेस्ट हाउस में रुकी, उसकी बिजली-पानी ही काट दी !

सोनभद्र के पीड़ित परिवारों से मिलकर ही मानीं प्रियंका गांधी लखनऊ : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों से मिलने की जिद पर आगे पढ़ें »

Sheila dixit death

Breaking news : शीला दीक्षित का निधन

नई दिल्ली : दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता शीला दीक्षित का शनिवार को निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमा चल आगे पढ़ें »

Terrorist in Tamilnadu

आतंकी हमले की साजिश थी, एनआईए की 16 जगह छापेमारी

चेन्नई : बड़े पैमाने पर देशभर में आतंकी हमलों की साजिश का भंडाफोड़ करते हुए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने तमिलनाडु में ताबड़तोड़ छापे मारे। आगे पढ़ें »

Iran Oil Tanker

ईरान ने अब बिट्रेन का तेल टैंकर जब्त किया, भारतीय भी सवार

लंदनः फारस की खाड़ी में तनाव बढ़ता ही जा रहा है। यह उस समय और बढ़ गया जब ईरान ने होरमुज की खाड़ी से ब्रिटेन आगे पढ़ें »

Bengal new Rajypal

6 राज्यपाल बदले, आनंदीबेन उत्तर प्रदेश की और धनखड़ बंगाल के नए राज्यपाल

नयी दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को छह राज्यों को नए राज्यपाल दिए हैं। इनमें कुछ की नई नियुक्ति है तो कुछ का आगे पढ़ें »

Tej Bahadur and Modi

वाराणसी से मोदी को सांसद बनाने के खिलाफ अदालत पहुंचा यह शख्स

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वाराणसी से सांसद बनाने के खिलाफ एक शख्स ने इलाहाबाद हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। उसकी याचिका पर आगे पढ़ें »

ऊपर