सोमवार से खुल जायेंगे मॉल्स व रेस्टोरेंट्स पर टार्गेट होगा 75 दिन पीछे वाली भीड़

मधु सिंह, कोलकाता : सभी लाेग यूं तो भविष्य की ओर देखते हैं, लेकिन कोरोना काल ने अब ऐसा समय भी ला दिया है कि पीछे की ओर देखना भी पड़ रहा है। क्या मॉल्स व रेस्टोरेंट्स में 2 महीने पहले जैसी भीड़ होगी ? अगले सोमवार यानी 8 जून से अनलॉक 1 के तहत मॉल्स, होटल व रेस्टोरेंट्स भी खुलने वाले हैं। ऐसे में अभी सबसे बड़ा सवाल है कि क्या पहले की तरह अब भी मॉल्स, होटल व रेस्टोरेंट्स में ग्राहक उमड़ेंगे ? चमक -दमक तो इनकी वैसी ही रहेगी, या फिर उससे भी बेहतर हाेगी, लेकिन क्या वो समय फिर लौटेगा जो 2 महीने पहले था ? हालांकि सभी मॉल्स, होटल व रेस्टोरेंट्स की ओर से अब मॉल्स व रेस्टोरेंट्स खोलने की तैयारियां की जा रही हैं। इसके लिए सैनिटाइजेशन और साफ – सफाई का काम भी चालू हो चुका है। एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिड्योर) भी बना लिया गया है ताकि ग्राहकों की सुरक्षा में किसी तरह की कमी ना रह जाए।
एक्रोपॉलिस और साउथ सिटी में हो रहा है सैनिटाइजेशन
बंगाल क्रेडाई के अध्यक्ष और एक्रोपॉलिस मॉल के डेवलपर व साउथ सिटी के स्टेकहोल्डर सुशील मोहता ने कहा, ‘8 जून से मॉल्स खोलने की घोषणा स्वागत योग्य कदम है। इस पूरे सप्ताह मॉल को सैनिटाइज करने के साथ ही ड्रिल किये जाएंगे। सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर ग्राहकों को शिक्षित करने हेतु प्रचार किया जाएगा।
एक्रोपॉलिस मॉल व कार्यालय को भी खोलने की तैयारी जारी है।’ उन्होंने कहा कि मल्टीप्लेक्स और बार को छोड़कर बाकी सभी आउटलेट यानी रेस्टोरेंट्स वगैरह भी चालू हो जाएंगे।
सुरक्षा के लिए अपनाये जाएंगे ये नियम
-प्रत्येक 30 से 60 मिनट के अंदर कॉमन एरिया जैसे ​कि टॉयलेट, लिफ्ट और एंट्रेंस आदि का सैनिटाइ​जेशन किया जाएगा।
-स्टाफ व ग्राहकों के लिए सभी एंट्री प्वाइंट पर आईआर टेम्परेचर चेक।
-बड़े बैग मॉल में नहीं लाने, मास्क पहनने, हाथ सैनिटाइज करने या धोने, एलिवेटर, एस्केलेटर, डिजिटल पेमेंट आदि के समय में डिस्टेंस बनाकर रखने समेत अन्य चीजों पर ग्राहकों को जागरूक किया जाएगा।
-मॉल के सभी स्टाफ की ट्रेनिंग चल रही है।
-अधिक भीड़ इकट्ठा ना हो, यह देखने के लिए कैमरा लगेंगे।
-लिफ्ट के पास गार्ड की तैनाती, इससे विजिटर्स को लिफ्ट बटन नहीं छूना पड़ेगा।
सिटी सेंटर भी खोलने की तैयारी में जुटा
सिटी सेंटर मॉल के फेसिलिटी मैनेजमेंट के ग्रुप हेड नरेंद्र सिंह ने कहा, ‘सरकार की राहत और गाइडलाइन के अनुसार चरणबद्ध तरीके से मॉल खोले जाएंगे। सभी ऑपरेशनल एंट्री, लिफ्ट और एस्केलेटर जोन में सेफ डिस्टेंस मार्किंग की जा रही है। मॉल के कॉमन एरिया जैसे कि वॉशरूम, सर्विस एरिया, बैक एरिया, लिफ्ट, एस्केलेटर, वाटर टैंक आदि सैनिटाइज किये जा रहे हैं। ’
सुरक्षा के लिए होंगे ये उपाय
-रोजाना मॉल को डिसइंफेक्ट किया जाएगा।
-अक्सर छूने वाली चीजों और वॉशरूम को हर आधे घण्टे पर सैनिटाइज किया जाएगा।
-मास्क पहनने पर और बॉडी टेम्परेचर 98.5F आने पर ही मॉल में एंट्री मिलेगी। एंट्री के समय थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन किया जाएगा।
-सभी एंट्री व महत्वपूर्ण स्थानों पर सैनिटाइजर रखे जाएंगे।
-मॉल टीम और सर्विस स्टाफ का रोजाना स्वास्थ्य परीक्षण होगा। क्लीनिकली फिट होने पर ही स्टाफ को सर्विस डिलीवरी की अनुमति मिलेगी। सिक्योरिटी और सर्विस स्टाफ के लिए पर्सनल प्रोटेक्टिव गियर्स पहनना अनिवार्य होगा।
-मॉल में संदिग्ध कोविड मरीजों के लिए आइशोलेशन चेम्बर बनाये गये हैं।
होटल व रेस्टोरेंट्स भी कर रहे हैं तैयारी
ना केवल मॉल्स बल्कि होटल व रेस्टोरेंट्स भी खोलने की तैयारी में जुट गये हैं। होटल एण्ड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ ईस्टर्न इंडिया (एचआरएईआई) के सचिव सुदेश पोद्दार ने कहा, ‘राज्य सरकार द्वारा उठाया गया कदम स्वागत योग्य है।’
होटलों व रेस्टोरेंट्स में सुरक्षा के होंगे ये नियम
– प्रत्येक टेबल के बीच 5 फीट से 2 मीटर तक की दूरी।- एंट्री प्वांइट पर थर्मल स्क्रीनिंग और मास्क अनिवार्य होगा। – रेस्टोरेंट्स की रोजाना फॉगिंग की जाएगी। – जहां तक संभव हो क्रॉकरी का इस्तेमाल किया जाए और अगर डिस्पोजेबल कटलरी नहीं है तो फिर उसे सैनिटाइज करना आवश्यक।- ग्राहकों को ह्वाट्स ऐप पर मेन्यू और बिल दिये जाएंगे ताकि कॉन्टैक्ट कम से कम हो। – स्टाफ के काम में आने का समय जल्दी किया जाए और लौटने का समय देर से किया जाए ताकि लोगों के साथ संपर्क कम किया जा सके। – किचन में खाना बनाने के समय संभव हो तो लाइव स्ट्रीमिंग किया जाए ताकि ग्राहकों का भरोसा वापस लौटाया जा सके।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर