तीसरे दिन भी हुई राजीव से मैराथन पूछताछ, फिर बुलाया गया

शिलांग / कोलकाता : सीबीआई की टीम ने सोमवार को लगातार तीसरे दिन कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार से पूछताछ की है और उन्हें आज फिर मंगलवार को बुलाया है। सोमवार को पूछताछ की शुरुआत में उन्हें फिर से तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद कुणाल घोष के साथ आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की गयी तथा बयान रिकार्ड किया गया। चिटफंड मामलों में राजीव कुमार से जहां तीसरे दिन पूछताछ हुई है वहीं कुणाल घोष के लिए सोमवार दूसरा दिन था। कुणाल ने कहा कि सीबीआई की टीम को गिरफ्तारी के बाद कई सारी जानकारियां उन्होंने राजीव कुमार के खिलाफ दी थीं। इतने दिनों बाद राजीव से सीबीआई ने पूछताछ की, यह मेरी नैतिक जीत है।
वहीं दूसरी ओर सीबीआई की टीम को जिन जानकारियों की तलाश राजीव कुमार से थी, वह सीबीआई को अब तक पूरी तरह नहीं मिल पायी है, इसीलिए यह पूछताछ लम्बी चल रही है। हो सकता है कि आज यानी मंगलवार को एक अन्य अभियुक्त के सामने राजीव कुमार को बैठाया जाये लेकिन उसका नाम सीबीआई की टीम नहीं बता रही है।
आरोप है कि सारधा के अलावा रोजवैली मामले में भी ऐसे सबूत सीबीआई के पास हैं जिससे साफ होता है कि रोजवैली कांड की खबर उनके पास थी लेकिन उन्होंने जानबूझकर इसकी छानबीन नहीं की और मामले को दबाया। सीबीआई के रोजवैली मामले में ओडिशा में मामला दर्ज करने की एक वजह यह भी थी कि उन्हें सीट का सहयोग नहीं मिला और बंगाल मेंं दायर मामलों की जानकारी सीबीआई को जांच के शुरुआती दौर में नहीं दी गयी थी। चिटफंड मामलों में गत रविवार को राजीव कुमार से 11 घंटे पूछताछ हुई थी जिसमें 4 घंटे के करीब उन्हें कुणाल घोष के साथ बैठाकर पूछताछ की गयी थी। कुणाल घोष सोमवार की सुबह करीब 10 बजे सीबीआई कार्यालय पहुंचे, वहीं राजीव उनके एक घंटे बाद पहुंचे। सीबीआई के तीन अधिकारियों ने कुमार से शनिवार को सारधा मामले में जरूरी सबूतों से छेड़छाड़ करने में उनकी कथित भूमिका को लेकर पूछताछ की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

धनशोधन मामले में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के छोटे भाई गिरफ्तार

लाहौर : सात अरब रुपये के धनशोधन मामले में लाहौर उच्च न्यायालय द्वारा जमानत याचिका खारिज किए जाने पर पाकिस्तान के नेता प्रतिपक्ष एवं पीएमएल-एन आगे पढ़ें »

trump

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने अमेरिका से ज्यादा भारत में जमा कराए टैक्स

वाशिंगटन : अमेरिका में तीन नवंबर को होने वाले चुनाव से पहले 'द न्यूयॉर्क टाइम्स' ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की टैक्स चोरी पर खुलासा आगे पढ़ें »

ऊपर