सीबीआई ने जाल फैलाया, कई बड़ी मछलियां फंस सकती हैं

कुल मिलाकर 11 एफआईआर दर्ज
हत्या के कई मामलों को अस्वाभाविक मौत बताया गया
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सीबीआई की टीम ने अपना जाल फैला दिया है। इस जाल में अब बड़ी मछलियां फंस सकती हैं। अब तक की छानबीन में यही जानकारी सामने आयी है। सीबीआई की टीम के मुताबिक देखा गया है कि हत्या के कई मामलों को अस्वाभाविक मौत बताकर फाइलें बंद करने की कोशिश की गयी है। शुक्रवार को सीबीआई की टीम ने उत्तर 24 परगना जिले के कई इलाकों में दौरा किया। इसके साथ ही सीबीआई की दूसरी टीम अन्य जिलों में भी गयी तथा पीड़ितों का बयान रिकार्ड किया। सबसे पहले शुक्रवार की सुबह भाटपाड़ा स्थित मृतक भाजपा कर्मी जयप्रकाश यादव के घर पहुंची। वहां पर उनके परिजनों का बयान दर्ज किया गया। इस दौरान उनके परिजनों ने कुछ प्रभावशाली लोगों का भी नाम लिया। वहां से कुछ वीडियो तथा कागजात जब्त किये गये। प्रत्यक्षदर्शियों में उनकी बहन का बयान रिकार्ड किया गया।
कृष्णनगर व चापड़ा के पीड़ित परिवारों ने सीबीआई को बयां की जुल्म की दास्तां
चुनाव उपरांत हिंसा की बलि चढ़े नदिया जिला के 2 भाजपा कार्यकर्ताओं के घर भी सीबीआई गयी। इनमें कृष्णनगर कोतवाली थाना क्षेत्र के बारुईहुदा के निवासी पलास मंडल और चापड़ा थाना अंतर्गत हृदयपुर के निवासी धर्म मंडल हैं। जांच में गई टीम के साथ सुरक्षा के लिए केंद्रीय बल के जवान थे। सीबीआई की एक ही टीम पहले पलास मंडल और उसके बाद धर्म मंडल के घर गयी। उल्लेखनीय है कि 14 जून को पलास मंडल और उसके एक माह पहले, 14 मई को धर्म मंडल की हत्या कर दी गयी थी। पलास की मौके पर ही मृत्यु हो गई थी जबकि एनआरएस अस्पताल में इलाजरत रहते के दौरान धर्म मंडल ने दम तोड़ा था। मृतक पलास की पत्नी शेफाली मंडल ने बताया कि सीबीआई की टीम जांच के लिए उनके घर आयी। उनसे पूछताछ की तथा बयान दर्ज किया।
मृतक की पत्नी ने कहा – हत्या करने के ही इरादे से आये थे वे
उनका आरोप है कि 14 जून की रात स्थानीय गुंडे उसके पति को ढूंढते हुए आये थे, उस समय पति घर में नहीं था। देर रात तीसरी बार ढूंढते हुए आये, उस समय पलास सो रहा था, बिस्तर से खींचकर उसे बाहर ले गए और उसे मार डाला। उनकी मांग है कि सीबीआई की टीम दोषियों को सजा दिलवाकर उन्हें इंसाफ दिलाये। धर्म मंडल की हत्या के आरोप में पुलिस ने 7 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया था, हालांकि पुलिस की कार्रवाई पर असंतोष जाहिर करते हुए घर वालों ने सीबीआई से जांच की मांग की थी। घर वालों का आरोप है कि पंचायत सदस्य कालू शेख के नेतृत्व में धर्म मंडल पर हमला किया गया था, पुलिस उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। सीबीआई की टीम इसके अलावा अन्य जिलों में चुनावी हिंसा पीड़ितों से मिली तथा बयान रिकॉर्ड किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

चक्रवात गुलाबः स्थितियों से निपटने के लिए नवान्न पूरी तरह अलर्ट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बंगाल में एक बार फिर चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है। अलीपुर मौसम विभाग की माने तो बुधवार को भारी बारिश आगे पढ़ें »

ऊपर