सीएए पर फैलाया जा रहा भ्रम – मोदी

पीएम का करारा हमला, कहा-आज का युवा ही इस पर फैला भ्रम तोड़ रहा है
पाकिस्तान में धार्मिक प्रताड़ना के प्रति जागरूक किया युवाओं ने
केन्द्रीय योजनाओं में नहीं मिलता कटमनी इसलिए लागू नहीं होती परियोजनाएं
कट, कमिशन और सिंडिकेट का मुद्दा भी उछाला
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : अपनी दो दिवसीय कोलकाता यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीएए पर केन्द्र का रुख साफ कर दिया तथा इसका विरोध करने वालों को करारा जवाब भी दे दिया। रविवार को स्वामी विवेकानंद की जन्म जयंती व राष्ट्रीय युवा दिवस के मौके पर बेलूड़ मठ में प्रधानमंत्री ने युवाओं को संबोधितकरते हुए सीएए का विरोध कर रही पार्टियों को आड़े हाथों लिया। प्रधानमंत्री ने कहा ​कि सीएए पर कुछ लोग देश को भ्रमित कर रहे हैं, पर आज का युवा ही इस भ्रम को ताेड़ रहा है। दुनिया को पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ की जा रही धार्मिक प्रताड़ना के बारे में युवा ही बता रहे हैं। इधर, नेताजी इनडोर स्टेडियम में कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट की 150वीं वर्ष गांठ पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने बंगाल में कटमनी और सिंडिकेट का मुद्दा उछाला। पीएम ने कहा कि केंद्र की परियोजनाओं में कट मनी नहीं मिलता, सिंडिकेट भी नहीं चलता जिस कारण केंद्र की परियोजनाएं राज्य में लागू नहीं की जाती हैं। इसके साथ ही पीएम ने कांग्रेस पर भी प्रहार किया तथा डॉ. भीमराव अंबेडकर को याद करते हुए कहा, ‘यह दुर्भाग्य की बात है कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी और बाबा साहेब अंबेडकर के सरकार से हटने के बाद उनके सुझावों पर भी कार्य नहीं किया गया।’
राजनीतिक समीक्षकों का कहना है कि प्रधानमंत्री ने सीएए पर अपना रुख स्पष्ट करते हुए एक तरह से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सीएए को हटाने या वापस लेने की मांग खारिज कर दी। पीएम मोदी ने यह बात समझा दी कि सीएए को ना तो हटाया जा सकता है और ना ही वापस लिया जा सकता है। गत शनिवार को राजभवन में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर सीएए वापस लेने की अपील की थी।
सीएए नागरिकता लेता नहीं, देता है
बेलूड़ मठ में प्रधानमंत्री ने कहा कि सीएए नागरिकता देता है, किसी की नागरिकता लेता नहीं है। सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट उस कानून में सिर्फ एक संशोधन है। पीएम ने कहा कि इतनी स्पष्टता के बावजूद कुछ लोग सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट को लेकर भ्रम फैला रहे हैं। मुझे खुशी है कि आज का युवा ही ऐसे लोगों का भ्रम भी दूर कर रहा है। उन्होंने कहा, ‘आज, राष्ट्रीय युवा दिवस पर मैं देश, पश्चिम बंगाल और उत्तर – पूर्व के सभी युवाओं से कहना चाहता हूं कि सीएए कोई रातों – रात लाया गया कानून नहीं है।’
पाकिस्तान में हुआ मानवाधिकारों का हनन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘नागरिकता में संशोधन की हमारी पहल के कारण विवाद उत्पन्न हुआ। अगर यह विवाद नहीं होता तो लोगों को पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचारों के बारे में पता नहीं चलता। उन्होंने कहा कि बंटवारे के बाद से पाकिस्तान में जिन अल्पसंख्यकों के साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है, उनके लिए नागरिकता कानून में थोड़ा बदलाव किया गया है। पीएम ने कहा, ‘पाकिस्तान में अल्पसंख्यक अत्यंत कष्ट में जीवन गुजार रहे हैं। महिलाओं को अपनी अस्मिता खोने का भय बना रहता है। युवा यह बात अच्छी तरह समझते हैं, लेकिन जो केवल राजनीति करना जानते हैं, उन्हें यह बात समझ में नहीं आती।’
किसी भी धर्म का व्यक्ति कर सकता है नागरिकता के लिए आवेदन
युवाओं काे बेलूड़ मठ में संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘हम सबकाे यह पता होना चाहिए कि जो व्यक्ति भारत में और भारत के संविधान में विश्वास करता है, चाहे वह किसी भी देश से, किसी भी धर्म का हो, वह उचित प्रक्रिया के तहत भारत की नागरिकता के लिए आवेदन कर सकता है। इसमें कहीं कोई समस्या नहीं है।’
हमारी सरकार ने पूरा किया महात्मा गांधी का सपना
अपने भाषण में महात्मा गांधी को याद करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि धार्मिक प्रताड़ना के शिकार लोगों के लिए राष्ट्रपिता ने भी भारतीय नागरिकता का समर्थन किया था। पीएम ने कहा, ‘हमारी सरकार ने केवल महात्मा गांधी और दूसरे स्वतंत्रता सेनानियों का सपना पूरा किया है।’ उन्होंने कहा, ‘हमने केवल वही किया जाे दशकों पहले महात्मा गांधी ने कहा था। क्या हमें शरणार्थियों को मरने के लिए छाेड़ देना चाहिए ? क्या वे हमारी जिम्मेदारी नहीं हैं ? उन्हें हमें नागरिकता देनी चाहिए कि नहीं ?’
राजनीतिक कारणों से सीएए पर फैलाया जा रहा झूठ
उत्तर – पूर्व के राज्यों में सीएए को लेकर जारी विरोध पर पीएम मोदी ने अलग पहचान और क्षेत्र के लोगों की संस्कृति की रक्षा का संकल्प लिया और कहा कि नये कानून से किसी को नुकसान नहीं पहुंचेगा। उन्होंने कहा, ‘राजनीतिक कारणों से कुछ लोग नये कानून को लेकर गलत अफवाह फैला रहे हैं जबकि सीएए को लेकर सब कुछ पूरी तरह स्पष्ट है।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर