सावधान ! आईएसआई का नया चेहरा आया सामने, बंगाल में फैलाना चाहता है ‘स्कैम’

‘राणा प्रताप सिंह’ स्कैम से हो जाइये होशियार
सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाता : हो जाइये सावधान ! आईएसआई की नजर में हैं बंगाल के लोग। आईएसआई की शह पर आतंकियों को फंडिंग के लिए पाकिस्तान से एक बड़ा गिरोह सक्रिय हुआ है। इसके निशाने पर हैं बंगाल के लोग जिनके बैंक अकाउंट को यह गिरोह खाली कर देना चाहता है। जी हां। ये चौंकाने वाली बात है और आपको होशियार करने के लिए भी है। कभी राणा प्रताप सिंह तो कभी सलाउद्दीन के नाम से गिरोह के लोग फोन करते हैं। लोगों की जाति – धर्म के अनुसार ही उसका नाम बदलता रहता है। गिरोह के लोग ह्वाट्स ऐप कॉल करने पर ही अधिक जाेर डालते हैं। ये नं. पाकिस्तान के होते हैं जहां से बैठकर भारत के लोगों को ठगा जा रहा है। कोलकाता में भी इस तरह के कई मामले सामने आ चुके हैं जहां लोगों को इस ठगी का शिकार बनाया जा रहा है।
कुछ इस तरह से आते हैं कॉल्स
+92345 जैसे नंबरों से गिरोह के सदस्य ह्वाट्स ऐप कॉल करते हैं। कॉल रिसीव करने पर गिरोह का सदस्य अपना कोई भी नाम बताते हुए कहता है, ‘मैं कौन बनेगा करोड़पति से बोल रहा हूं। आपकी 25 लाख की लॉटरी लगी है।’
ह्वाट्स ऐप कॉल पर जोर
ह्वाट्स ऐप कॉल करने वाला व्यक्ति पहले सामने वाले व्यक्ति काे लॉटरी की बात कहकर उसे अपने झांसे में लेता है। इसके बाद सामने वाले व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति का नंबर दिया जाता है और कहा जाता है कि उसका नाम राणा प्रताप सिंह है। उसे ह्वाट्स ऐप कॉल करके अपने बैंक अकाउंट की डिटेल्स बता दें। अकाउंट डिटेल्स बताने के बाद रुपये बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दिये जाएंगे। इसी समय व्यक्ति को सतर्क होने की जरूरत होती है जहां लोग भूल कर बैठते हैं।
लॉटरी के रुपये दिलाने के नाम पर ऐंठ लेते हैं जमा – पूंजी
एक बार अगर आप राणा प्रताप सिंह के झांसे में आ गये तो फिर कभी टैक्स मनी तो कभी इनकम टैक्स अमाउंंट और कभी किसी और नाम पर वह आपसे रुपये ऐंठने लगेगा। लॉटरी के रुपये दिलाने के नाम पर वह तब तक आपसे रुपये वसूलता रहेगा जब तक कि आपकी पूरी जमा- पूंजी खत्म नहीं हो जाती।
कम पढ़े लिखे होते हैं अधिकतर सदस्य
गिरोह के जो सदस्य फोन करते हैं, उनमें अधिकतर लोग कम पढ़े – लिखे होते हैं। इसका कारण है कि कॉल करने वाले सदस्यों के शब्दों का उच्चारण काफी गलत होता है। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है मगर अधिकतर लोग इस ओर ध्यान नहीं देते।
रक्षा मंत्रालय ने भी जारी की थी निर्देशिका
केबीसी के नाम पर पाकिस्तानी ठगाें द्वारा लोगों के बैंक अकाउंट से रुपये निकालने के मामले में वर्ष 2019 में रक्षा मंत्रालय द्वारा निर्देशिका भी जारी की गयी थी। सिक्योरिटी एजेंसियों को पता चला था कि कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी) के नाम पर पाकिस्तान का संगठन भारत के लोगों को फंसाने की कोशिश कर रहा है। अब तक इस गिरोह द्वारा देश के करोड़ाें लोगों को ठगा जा चुका है।
रहें सतर्क, ह्वाट्स ऐप पर सेटिंग कर लें चेंज
रक्षा मंत्रालय के साइबर सेल द्वारा लोगों को निर्देश दिया गया था कि वे अपने ह्वाट्स ऐप की सेटिंग इस तरह चेंज कर लें कि केवल उनके कॉन्टैक्ट के लोग ही किसी तरह के ह्वाट्स ऐप ग्रुप में आपको ऐड कर सके। ऐसा भी सामने आया है कि कई तरह के ह्वाट्स ऐप ग्रुप में ऐड करके और लाॅटरी का झांसा देकर कई तरह के मेसेजेस ग्रुप में भेजे जाते हैं। खुद सतर्क रह कर ही ऐसे ठगी से बचा जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

न्यूटाउन में चल रही नाका चेकिंग

कोलकाताः सड़क हादसों को कम करने के लिए बिधाननगर पुलिस के नव दिगंत ट्रैफिक गार्ड अब सक्रिय है। वे नालबन के सामने कोलकाता के रास्ते आगे पढ़ें »

ऊपर