साधन हुए हमलावर, कहा-निगम को और होना चाहिए था अलर्ट

प्रशासक को शोभन चटर्जी से लेना चाहिए था परामर्श
सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : अम्फान तो चला गया मगर इसने जाते जाते राजनीति में कई तूफान खड़ा कर दिया। तृणमूल के विधायक व मंत्री साधन पांडेय ने कोलकाता नगर निगम द्वारा अम्फान की तैयारी पर सवाल खड़ा किया। उन्होंने कहा कि निगम को और अलर्ट होना चाहिए था। प्रशासक फिरहाद हकीम को केवल इनफ इज इनफ बोलने से नहीं होगा। उन्हें शोभन चटर्जी सहित सभी विधायकों के साथ बैठक कर कामकाज को लेकर सलाह लेनी चाहिए थी। शोभन चटर्जी भी एक विधायक है। हमसभी को बुलाना चाहिए था। एक विधायक का दायित्व पार्षद से कहीं अधिक है। इस बात को प्रशासक शायद नहीं समझें या समझकर भी नहीं समझना चाहा। प्रशासक अगर हमलोगों को बुलाते तो हम उन्हें आइडिया देते कि क्या करना चाहिए था। जब जानकारी थी कि इतना बड़ा तूफान आने वाला है तो क्यों नहीं उस तरह की तैयारी हुई। उन्होंने उदहारण के तौर पर कहा, जब अस्पताल को पता है कि इतने मरीज आएंगे तो वेंटिलेटर से लेकर हर तरह की व्यवस्था करनी होती है।
प्रशासक ने अपना काम नहीं किया
साधन पांडेय ने कहा कि यह काम मुख्यमंत्री का नहीं था यह काम प्रशासक का था। उन्हें उचित था सबसे बात करें, मगर दुर्भाग्यजनक है कि उन्होंने किसी से बात नहीं किया। साधन ने यह भी आरोप में कहा कि, राशन को लेकर कभी भी बात नहीं करते हैं। मैं खुद चलकर उनको कई बार फोन करता हूं। यह बेहद ही आश्चर्य की बात है कि राशन को लेकर मैंने बोरो ऑफिस में करीब हजार फॉर्म भी भेजा, वहां से कहा गया कि आपका फार्म नहीं लिया जाएगा। इसके बाद मैंने बॉबी को फोन किया।
सीईएससी एक मोनोपॉली संगठन
साधन पांडेय ने कहा कि मुझे लगता है सीईएससी एक मोनोपॉली (एकाधिकार) संगठन है। ज्योति बसु के समय और बुद्धदेव के समय में इसका विरोध किया था। कोलकाता में आखिर क्यों नहीं दो कंपनियां रहेगी? मुंबई में दो हैं। सरकार को इस बारे में सोचना होगा। दो कंपनियां हों, प्रतियोगिता होनी चाहिए। क्यों हम एक पर निर्भर रहें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आज रॉयल बंगाल टाइगर का जन्म दिन

नयी दिल्ली : बंगाल के ‘रॉयल बंगाल टाइगर’, ‘प्रिंस आफ कोलकाता ’ या फिर ‘दादा’, का जन्म 8 जुलाई 1972 (48 वर्ष) को हुआ था। आगे पढ़ें »

बंगाल में सात दिन के लिए निरूद्ध क्षेत्रों में लॉकडाउन लागू रहेगा : ममता

कोलकाता :  देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों से बचाव के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य में आगे पढ़ें »

ऊपर