सांसदों के निलंबन पर भड़की ममता, कहा संसद से सड़क तक लड़ते रहेंगे

 

कोलकाता : कृषि बिल को लेकर हुए हंगामें में टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन, राजीव सातव, संजय सिंह, केके रागेश, रिपुन बोरा, डोला सेन, सैयद नजीर हुसैन और इलामारन करीम को एक सप्ताह के लिए निलंबित किया गया है। इन सभी निलंबित सांसदों पर उपसभापति के साथ असंसदीय व्यवहार करने का आरोप है। इस पर टीएमसी प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बेहद नाराजगी जताई है। ‌साथ ही कहा कि निरंकुश सरकार के खिलाफ संसद से सड़क तक लड़ते रहेंगे। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि किसानों के हितों की रक्षा के लिए लड़ने वाले 8 सांसदों का दुर्भाग्यपूर्ण और चिंतनशील है। यह निरंकुश सरकार की मानसिकता को दर्शाता है कि वह लोकतांत्रिक मानदंडों और सिद्धांतों का सम्मान नहीं करते हैं। मगर हम रुकने वाले नहीं हैं, ऐसे ही संसद से लेकर सड़क तक इस फासीवादी सरकार के खिलाफ लड़ते रहेंगे।

हंगामे में माइक तोड़ दिए गए व रूल बुक फाड़ दी गई

मालूम हो कि रविवार को राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे के बीच केंद्र सरकार विपक्ष के विरोध के बीच दोनों बिलों को राज्यसभा में पास कराने में सफल रही। इस दौरान सदन की मर्यादा तार-तार हो गई। विपक्ष के कई सांसद उपसभापति के कुर्सी तक जा पहुंचे। इस दौरान माइक तोड़ दिए गए और रूल बुक भी फाड़ दी गई। आज सभापति ने राज्यसभा के 8 सांसदों को एक सप्ताह के लिए सस्पेंड कर दिया। वहीं सभापति वैंकेया नायडू ने कहा, ‘कल राज्यसभा के लिए बुरा दिन था, जब कुछ सदस्य सदन के वेल में आए। इस दौरान डिप्टी चेयरमैन को शारीरिक रूप से खतरा था। यह दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है। मैं सांसदों को सुझाव देता हूं, कृपया कुछ आत्मनिरीक्षण करें।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजस्थान ने पंजाब को 7 विकेट से हराया, राजस्थान अब भी प्ले ऑफ की रेस में

अबुधाबी : बेन स्टोक्स की अगुआई में शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में शुक्रवार को आगे पढ़ें »

1000 छक्के उड़ाने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बने गेल

अबु धाबी : राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ शतक से चूक गए अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण दुनियाभर की टी20 लीग में अपना विशिष्ट स्थान रखने आगे पढ़ें »

ऊपर