सरेशाम आसनसोल के ज्वेलरी शो रूम में 5 करोड़ के गहनों की लूट

सात अपराधियों के गिरोह ने दिया अंजाम, पांच घुसे अंदर, दो रहे बाहर
एक दिन पहले एक अपराधी ग्राहक बन कर आया था शोरूम में
एडीसीपी (सेंट्रल) सायक दास पहुंचे घटनास्थल पर, शहर की नाकेबंदी
सन्मार्ग संवाददाता
आसनसोल : आसनसोल दक्षिण थाना अंतर्गत आश्रम मोड़ स्थित होटल एक्सलेंसी भवन में स्थित गणपति ज्वेलर्स में बुधवार की सरेशाम 7.30 बजे सात अपराधियों के गिरोह ने हथियारों की नोक पर मालिक मुरारी लाल अग्रवाल सहित अन्य कर्मचारियों को बंधक बना लिया। स्ट्रांग रूम, शोकेस तथा दराज में रखे पांच किलोग्राम स्वर्ण आभूषण, डायमंड ज्वेलरी तथा कैश में रखे नगदी लूट लिया। प्राथमिक आकलन के अनुसार पांच करोड़ रुपये के आभूषण लूटे जाने की खबर है। अपराधियों ने आधे घंटे के दौरान पूरे ऑपरेशन को अंजाम दे दिया। घटना के समय पांच अपराधी ग्राहक बन कर दुकान में घुसे जबकि दो बाहर खड़े रहे। इसके बाद सभी आसानी से बाइक पर सवार होकर भाग निकले। वे अपने साथ सीसीटीवी कैमरे के डीबीआर निकाल कर अपने साथ लेते गये। सूचना मिलने के बाद अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (सेंट्रल) सायक दास ने पुलिस अधिकारियों के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया तथा मालिक व कर्मचारियों से पूछताछ की। पुलिस ने पूरे इलाके की नाकाबंदी कर ली है। शहर से निकलने के सभी सड़कों को सील कर जांच की जा रही है। घटनास्थल पर शहर के प्रतिष्ठित व्यवसायियों की भीड़ लगी हुई है। अपराधियों ने सरेशाम अपराध कर पुलिस को कड़ी चुनौती दे डाली है।
गणपति ज्वेलर्स के मालिक मुरारीलाल अग्रवाल ने बताया कि दुकान बंद करने की तैयारी हो रही थी। उसी समय एक अपराधी ग्राहक बन कर अन्दर प्रवेश किया। दूसरा अपराधी दुकान के सुरक्षा गार्ड को पहले पिस्टल दिखाकर अन्दर घुसा। उसके पीछे तीन और अपराधी पिस्टल और रिवाल्वर लेकर घुस गए तथा दुकान को अन्दर से बंद कर दिया। डकैतों ने उनको तथा सभी कर्मचारियों को स्ट्रांग रूम में बंद कर सीसीटीवी कैमरे का हार्ड डिस्क को सबसे पहले निकाला। उसके बाद उन्होंने लूट शुरू की। अपराधियों ने सभी के मोबाइल फोन को छिन लिया। उसके बाद पहले स्ट्रांग रूम को पिस्टल की नोक पर खुलवाया। स्ट्रांग रूम में रखे सारे ज्वेलरी को कब्जे में करने के बाद शोरूम के दराज में रखे सभी स्वर्ण एवं डायमंड ज्वेलरी को अपने कब्जे में कर आराम से दुकान से बाहर निकल गये। सभी अपराधी मोटर साइकिल पर सवार थे। बाहर जाने के बाद डकैत किस तरफ गए, उनको पता नहीं चला।
महिला कर्मी श्रावणी घोष ने बताया कि पांच अपराधियों में से तीनको देखने से पहचान लेगी। सभी डकैत हिन्दी में बात कर रहे थे। बताया गया कि एक अपराधी मंगलवार की दोपहर 12.30 बजे ग्राहक बनकर आया था। कान की एक रिंग खरीदा एवं एक चेन पसंद किया था। उसने बताया कि उसके पास उतना रुपया नहीं है, बुधवार को आकर चेन खरीदेगा। उसका नाम एवं फोन नम्बर मांगा गया था लेकिन उसने अपना नाम एवं फोन नंबर नहीं दिया था। बुधवार की रात पहले वही अपराधी ग्राहक बन कर दुकान में आया। घटना की सूचना पाकर मौके पर नगर निगम के चेयरमैन अमरनाथ चटर्जी पहुंचे। उन्होंने बताया कि बहुत ही दुःस्साहिक घटना हुई है। पुलिस को अविलंब घटना की जांच कर कार्रवाई करके डकैतों को पकड़ना होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्रिकेट नहीं हुए तो इंग्लैंड व वेल्स क्रिकेट बोर्ड को 30 करोड़ पौंड का नुकसान

लंदन : इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के प्रमुख टॉम हैरिसन ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण अगर आगामी सत्र में क्रिकेट नहीं आगे पढ़ें »

विम्बलडन रद्द होने का असर नहीं, तय समय पर हीअमेरिकी ओपन : आयोजक

न्यूयार्क : कोरोना वायरस महामारी के कारण विम्बलडन रद्द हो गया और फ्रेंच ओपन स्थगित कर दिया गया लेकिन अमेरिकी ओपन के आयोजकों ने कहा आगे पढ़ें »

क्यूबा का ओलंपिक चैंपियन पहलवान बोरेरो कोरोना की चपेट में

2011 विश्‍व कप : धोनी के विजयी छक्के को ज्यादा त्वज्जो देने से गंभीर नाराज, कहा- पूरी टीम की वजह से बने थे विश्व चैम्पियन

मूडीज इन्वेस्टर्स ने बैंकिंग सेक्टर के लिए अनुमान स्थिर से नेगेटिव किया

पीएम केयर्स फंड में दो साल का वेतन देंगे गौतम गंभीर

टोक्यो ओलंपिक पर समर्थन के लिये आईओसी प्रमुख बाक ने मोदी का आभार जताया

डकवर्थ-लुईस नियम बनाने वाले 78 साल के गणितज्ञ लुईस का निधन

चीन की मैन्यूफैक्चरिंग रिकवरी क्रूड के लिए अच्छा सौदा, सोने की चमक फीकी

पंत के छक्का लगाने के चैलेंज पर रोहित ने कहा- उसे खेलते हुए एक साल भी नहीं हुआ और चुनौती दे रहा

ऊपर