समुद्र में जहाज पर छापा मारकर 300 करोड़ के ड्रग्स पकड़े

पोर्ट ब्लेयर : पोर्ट ब्लेयर के समुद्र में जहाज पर छापा मारी कर 300 करोड़ रुपये के ड्रग्स के साथ भारतीय तटरक्षक बल ने 6 म्यांमारी तस्करों को पकड़ा है। पकड़े गए सभी तस्करों से तटरक्षक बल और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारी संयुक्त रू प से पूछताछ कर रहे हैं। जब्त ड्रग्स की जांच की गयी तो पता चला की संदिग्ध पदार्थ केटामाइन है। बोट पर एक किलोग्राम के 1160 पैकेट थे। तटरक्षक बल के अनुसार पकड़े गए ड्रग्स की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 300 करोड़ के करीब है।जानकारी के मुताबिक तटरक्षक बल के विमान ने 18 सितम्बर को भारतीय समुद्री क्षेत्र में एक संदिग्ध बोट को देखा। जब बोट के मास्टर से संपर्क करने की कोशिश की गई तो बोट की तरफ से कोई जबाब नहीं मिला। तटरक्षक बल के शिप राजवीर को उस दिशा में जाने का निर्देश दिया गया तथा संदिग्ध बोट की जांच करने को कहा गया। निर्देश मिलने के बाद 19 सितम्बर को तटरक्षक बोट ने रात नौ बजे संदिग्ध बोट की लोकेशन का पता लगा लिया। तब तटरक्षक बल ने बोट को रोकने की कोशिश की तो बोट चालक बोट लेकर भागने लिया। बाद में संदिग्ध बोट को घेर कर वहीं बोट में सवार सभी संदिग्धों से पूछताछ की गई। पूछताछ के दौरान तटरक्षक बल के जवानों को बोट में सवार सभी 6 सदस्यों ने बताया कि 21 सितम्बर को थाईलैंड-मलेशिया समुद्री सीमा के पास एक अन्य बोट पर ड्रग्स की थैलियों की खेप देने के लिए 14 सितम्बर को म्यांमार के डामसन बे से उन लोगों ने अपनी यात्रा शुरु की थी। बाद में तटरक्षक बल के जवानों ने जब संदिग्ध बोट की तलाशी ली तो उसमें 57 बंडलों में कुछ संदिग्ध सामान मिला। तटरक्षक बल ने सभी को हिरासत में लेकर पोर्ट ब्लेयर ले आयी। हालांकि बोट बीच रास्ते मे ही नष्ट हो गया।
तटरक्षक बल के जहाज राजवीर ने शनिवार को छह म्यांमार चालकों के साथ पोर्ट ब्लेयर पहुंचे। इसके बाद स्थानीय पुलिस के साथ नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरों के संयुक्त टीम के साथ सभी संदिग्धों की पूछताछ की गई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर