सचिन की बेटी को ‘किडनैपिंग’ की धमकी, गिरफ्तार

महिषादल/कोलकाता : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान व क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर को फोन पर ‘किडनैपिंग’ की धमकी देने के अभियुक्त 32 वर्षीय देव कुमार माइती को कोलकाता व मुंबई पुलिस ने पूर्व मिदनापुर के महिषादल से गिरफ्तार किया है। आरोप है कि लगभग 2 महीने पहले देव ने सारा को फोन करना शुरू किया था। देव कुमार ने अंतिम बार गत 2 जनवरी को सारा को फोन किया था। इस बीच, उसने 20 बार सारा को फोन कर उससे शादी करने का प्रस्ताव दिया और साथ ही उसका अपहरण करने की धमकी भी दी। महिषादल में आर्टिस्ट होने के कारण इलाके में लोग देव कुमार को भली भांति जानते हैं। सूत्रों के अनुसार, देव ने पड़ोसियों को भी यह बता रखा था कि वह सचिन की बेटी सारा से शादी करने वाला है। इधर, पुलिस को देवकुमार के घर से एक डायरी मिली है जिसमें उसने सारा तेंदुलकर को अपनी पत्नी बताया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार, अभियुक्त को गिरफ्तार करने के बाद देखा गया कि उसने अपने शरीर पर कई जगह पर सचिन की पुत्री सारा का नाम लिख रखा है। उस पर आरोप है कि उसने सचिन तेंदुलकर के घर के लैंडलाइन नंबर पर 20 बार फोन किया। पुलिस के मुताबिक, अभियुक्त ने पूछताछ में बताया कि कुछ महीने पहले वह किसी काम से मुंबई आया था। तभी उसे सारा तेंदुलकर का नंबर मिला और वह सारा को फोन करने लगा।
देवकुमार माइती ने पुलिस को बताया, ‘मैंने उसे (सारा को) टीवी पर एक मैच के दौरान पैवीलियन में देखा था और देखते ही उसके प्यार में पड़ गया था। मैंने किसी तरह सचिन के घर का लैंडलाइन नंबर जुगाड़ा और उस पर लगभग 20 बार फोन किया। मैं आज तक कभी सारा से नहीं मिला हूं।’ देव ने सारा के नाम का टैटू भी अपने हाथ में बनवाया था। देवकुमार काे हल्दिया कोर्ट में पेश करने के बाद मुंबई ट्रांजिट रिमांड में भेजा जाएगा।
घटना के संबंध में देवकुमार के परिजनों का दावा है कि देव मानसिक रूप से अस्वस्थ है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर