बंगाल ‘समस्याग्रस्त’ है: सेंट्रल पुलिस ऑब्जर्वर

कोलकाताः पश्चिम बंगाल के लिए विशेष पुलिस पर्यवेक्षक विवेक दुबे ने कहा कि सभी मतदान केंद्रों को ‘संवेदनशील’ घोषित करना संभव नहीं है, लेकिन बंगाल में सात चरणों के चुनाव का फैसला किया गया, क्योंकि यह राज्य ‘समस्याग्रस्त’ है। दुबे ने राजनीतिक दलों के साथ बैठक के बाद उक्त बात कही। उन्होंने कहा कि वह राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के विचार-विमर्श से संतुष्ट थे। अधिकांश नेता अधिक से अधिक अर्द्धसैनिक बलों का रूट मार्च व तैनाती चाहते थे, सभी दलों ने उनसे यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया कि चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से संपन्न हो। विपक्षी दलों की इस मांग के बारे में कि बंगाल को संवेदनशील घोषित किया जाए, उन्होंने कहा “सभी बूथ कभी भी संवेदनशील घोषित नहीं किए जा सकते। कुछ बूथ संवेदनशील होेंगे, कुछ अत्यधिक संवेदनशील होंगे। हालांकि इसका वर्गीकरण कुछ मानदंडों पर आधारित है। “दुबे ने कहा कि” राज्य में चुनाव को सात चरणों में विभाजित किया गया है, इसका कारण यह है कि चुनाव आयोग जानता था कि पश्चिम बंगाल में कुछ समस्याएं हैं। ” साथ ही, राज्य को और अधिक बलों की आवश्यकता होगी। उन्होंने तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के उदाहरण दिए, जहां चुनाव एक ही चरण में होगा। अधिक चरणों के साथ, अर्द्धसैनिक बलों को स्थानांतरित करना आसान होगा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय और पुलिस अधिकारियों की तटस्थता पर सवाल उठाने पर, दुबे ने कहा: “मैंने पार्टियों से संबंधित मुद्दों पर सबूत जमा करने के लिए कहा है। उचित सबूत के साथ मैं इसे देखूंगा। ”

शेयर करें

मुख्य समाचार

नहीं होगी रणबीर की ‘ब्रह्मास्त्र’ रिलीज!

नई दिल्ली : एक्टर रणबीर कपूर की अपकमिंग फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' लंबे समय से चर्चा में हैं। फैंस भी इसके रिलीज का बेसब्री से इंतजार कर आगे पढ़ें »

राजस्थान सरकार केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ लायी विधेयक

जयपुर : केंद्र द्वारा हाल ही में पारित कृषि सम्बंधी तीन कानूनों का राजस्थान के किसानों पर असर 'निष्प्रभावी' करने के लिए राज्य सरकार ने आगे पढ़ें »

ऊपर