4 सीटों को छोड़कर सभी पर वाममोर्चा ने उतारे उम्मीदवार

कोलकाता : कहा जाता है कि राजनीति में कब क्या हो जाए, यह कोई नहीं बता सकता। अब तक जो माकपा और कांग्रेस एक – दूसरे के साथ समझौते की बात कर रही थी, अब उसी माकपा और कांग्रेस के बीच तलवार तन गयी है। कांग्रेस ने पहले ही यह साफ कर दिया है कि अब वह माकपा के साथ गठबंधन नहीं करेगी। यह समझौता टूटने के लिए अब दोनों पार्टियां एक – दूसरे पर ठिकरा फोड़ रही हैं। इधर, मंगलवार को माकपा ने एक और सूची जारी करते हुए 13 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी। इसके साथ ही माकपा अब तक 38 उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतार चुकी है। हालांकि माकपा ने अब भी कांग्रेस की जीती हुई सीटों मालदह उत्तर, मालदह दक्षिण, जंगीपुर और बहरमपुर पर उम्मीदवार नहीं उतारे हैं। राज्य के वाममोर्चा के चेयरमैन विमान बोस ने संवाददाता सम्मेलन में कहा है कि भाजपा को रोकने के लिए कांग्रेस और माकपा के बीच समझौता जरूरी है। कांग्रेस को सोचने के लिए माकपा 24 घण्टे अर्थात आज बुधवार की शाम 4 बजे तक का समय देती है। अगर इस बीच, कांग्रेस का कोई जवाब आता है तो ठीक है नहीं तो कांग्रेस की जीती हुई 4 सीटों पर भी माकपा उम्मीदवारों की घोषणा कर देगी। इधर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने एक बार फिर यह साफ कर दिया है कि माकपा के साथ गठबंधन नहीं होगा। उन्होंने कहा कि माकपा की शर्त मानना संभव नहीं है। इस तरह कोई समझौता नहीं होता है। उन्होंने कहा कि हम कहां उम्मीदवार देंगे और कहां नहीं, यह क्या अब माकपा तय करेगी ? पार्टी के सम्मान के साथ किसी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता है। दोनों ही पार्टियां अब एक – दूसरे काे यह समझौता न होने का जिम्मेदार ठहरा रही हैं।
यहां गौरतलब है कि कांग्रेस समझौते के लिए माकपा से 17 सीटें चाहती थी, लेकिन माकपा किसी हाल में कांग्रेस को 11 से अधिक सीटें छोड़ने को तैयार नहीं हुई। इधर, कांग्रेस पुरुलिया की सीट से लड़ना चाहती थी, लेकिन माकपा इस सीट से अपना उम्मीदवार उतारना चाहती थी। रायगंज और मुर्शिदाबाद की सीटों पर भी माकपा द्वारा पहले से ही उम्मीदवार घोषित किये जाने के बाद अब कांग्रेस ने भी अपने उम्मीदवार घोषित कर दिये हैं। इधर, माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच बैठकों का सिलसिला लगातार जारी रहा, लेकिन इसका भी कोई नतीजा आखिरकार नहीं निकल पाया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कृषि क्षेत्र में बिहार का मॉडल सर्वश्रेष्ठ : जदयू

पटना : बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (यूनाइटेड) ने शुक्रवार को दावा किया कि कृषि क्षेत्र में राज्य का मॉडल सर्वश्रेष्ठ है। जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन आगे पढ़ें »

The country has changed, good days have come: JP Nadda

जेपी नड्डा का शनिवार को बिहार दौरा 

पटना : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभालने के बाद पहली बार शनिवार को बिहार के एक दिवसीय दौरे पर आ रहे आगे पढ़ें »

ऊपर