लॉकडाउन में किया लालच तो पड़ेगा भारी

मनमाना दाम लेनेवाले दुकानदारों पर है कड़ी नजर
सविता राय,कोलकाता : देश भर में लॉकडाउन जारी है और कुछ दुकानदार इसका भी फायदा उठाने में पीछे नहीं हैं। ग्राहकों से सामान की मनमानी कीमत वसूली जा रही है। लेकिन ऐसे दुकानदार अब संभल जाएं, क्योंकि इन पर है प्रशासन की कड़ी नजर। कई जगहों से शिकायतें आ रही है कि कुछ दुकानदार मौके का फायदा उठा रहे हैं। प्रशासन ने स्पष्ट कर दिया है, इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।
थोक से छोटी दुकानों तक की चेन
कोलकाता व इसके आसपास के इलाकों में थोक सामानों की आपूर्ति बड़ाबाजर के पोस्ता बाजार से ही होती है। पोस्ता बाजार मर्चेंट्स एसोसिएशन के वर्किंग प्रेसिडेंट चंदन चक्रवर्ती ने बताया कि दुकानदार यहां से सीधे सामान लेते हैं। ज्यादातर डायरेक्ट चेन है। कोई साइकिल से तो कोई मोटिया या अन्य साधन माल ले जाता है। चंदन ने बताया कि एमआरपी से कुछ प्रतिशत कम दाम में ही दुकानदार खरीदारी करते हैं, अब यह उनपर निर्भर करता है कि उस सामान को वो किस दाम में बेचते हैं।
सबसे अधिक शिकायतें
सबसे अधिक शिकायतें अलग -अलग दुकानों में एमआरपी से अलग-अलग दाम लेने की शिकायतें मिली हैं। जबकि एमआरपी से ज्यादा लेने का सवाल ही नहीं उठता। इनमें सबसे अधिक शिकायत तेल, आटा, दाल और कीटनाशक सहित रोजमर्रा की चीजों की शिकायतें आ रही है।
कालाबाजारी और जमाखोरी करनेवाले जा सकते हैं जेल भी
जरूर करें शिकायत

इंफोर्समेंट ब्रांच के डिप्टी कमिश्नर विश्वजीत घोष ने कहा कि एमआरपी से ज्यादा कीमत वसूलना गैर कानूनी है। अगर कोई दुकानदार ऐसा करता है तो ग्राहक उसके कैश मेमो के साथ शिकायत कर सकता है। ऐसे दुकानदारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। यहां उल्लेखनीय है कि ज्यादा दुकानदार कीमत वसूलने पर कैश मेमो नहीं देना चाहते हैं। अक्सर दुकानदार देते भी नहीं है।

क्या कर सकते हैं आप

ग्राहक को वस्तुओं और उसकी गुणवत्ता, मात्रा और कीमत के बारे में जानकारी पाने का अधिकार है। दुकानदार या सप्लायर किसी वस्तु या सामान की सही जानकारी नहीं देता है, तो इंफोर्समेंट ब्रांच(ईबी) में शिकायत कर सकते हैं। कैश मेमो जरूर लें। एमआरपी से ज्यादा कीमत न दें। जरूरत पर थाने में शिकायत करें
लॉकडाउन में कोलकाता से कालाबा​जारी करते हुए 6 गिरफ्तारअधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन शुरू होने से अब चावल, दाल की कालाबाजारी के 6 मामले सामने आये हैं। कई को गिरफ्तार भी किया गया है। शिकायत मिली थी कि कोलकाता के अलग अलग हिस्सों में दुकानदार राशन के चावल और गेहूं को शॉप में बेच रहे थे, छानबीन के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया। वहीं सरकारी योजना के तहत नॉट फॉर सेल वाले सोयाबीन को भी दुकान में बेचा जा रहा था। इसी तरह से कालाबाजारी और जमाखोरी पर ई.बी की कड़ी नजर है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जीएसटी में लगभग 32 करोड़ों का टैक्स चोरी करने के जुर्म में सिलीगुड़ी से व्यापारी गिरफ्तार

सिलीगुड़ी: जीएसटी के अंतर्गत इनपुट टैक्स क्रेडिट में फर्जीवाड़ा करने के जुर्म में डायरेक्टरेट जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलिजेंस(डीडीजीआई) के सिलीगुड़ी जोनल यूनिट के अधिकारियों ने आगे पढ़ें »

डेढ़ लाख के ब्राउन सुगर के साथ एक गिरफ्तार

सिलीगुड़ी: एनजेपी थाना के सिविल ड्रेस की पुलिस ने अभियान चलाकार मंगलवार देर रात फुलबाड़ी टोलप्लाजा संलग्न इलाके से एक युवक को गिफ्तार किया है। आगे पढ़ें »

ऊपर