राज्यपाल ने पीएम को दी बंगाल के हालातों की जानकारी

नयी दिल्ली/कोलकाता : गत शनिवार को बशीरहाट के संदेशखाली में तृणमूल व भाजपा के बीच हुई राजनीतिक हिंसा की घटना के बाद रविवार को राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी दिल्ली गये। सोमवार को राज्यपाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ 40 मिनट और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ लगभग 20 मिनट तक बैठक की। बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को राज्य के वर्तमान हालातों की जानकारी दी है। लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद यह पहली बार राज्यपाल ने प्रधानमंत्री और गृह मंत्री से मुलाकात की। राज्यपाल ने कहा, ‘मैंने प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को राज्य के हालातों की जानकारी दी है। इससे अधिक जानकारी मैं नहीं दे सकता।’ पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू किये जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस पर किसी तरह की चर्चा बैठक में नहीं हुई। सूत्रों का कहना है कि राज्यपाल ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर राज्य में राजनीतिक हिंसा और मौजूदा हालातों पर 48 पन्ने की विस्तृत रिपोर्ट सौंपी है। सूत्रों के अनुसार, राज्यपाल ने गृह मंत्रालय को जो रिपोर्ट सौंपी है, उसमें कहा गया है कि राज्य सरकार हिंसक घटनाओं को रोकने में पूरी तरह विफल रही है। रिपोर्ट में कथित तौर पर इस बात का जिक्र है कि ममता सरकार के आला अफसर जान-बूझ कर प्रदेश में हिंसा को बढ़ावा दे रहे हैं। ऐसे हालात में वहां बड़े पैमाने पर अर्द्धसैनिक बल तैनात किये जाए। गृह मंत्रालय के सूत्र बताते हैं कि रिपोर्ट में पश्चिम बंगाल के एक दर्जन से अधिक आईएएस व आईपीएस अफसरों का नाम भी है, जिनके बारे में कहा गया है कि ये अफसर जान-बूझ कर कानून व्यवस्था को खराब करा रहे हैं। मौजूदा हालात में गृह मंत्रालय जल्द ही 150 से ज्यादा कंपनियों को पश्चिम बंगाल के लिए रवाना कर सकता है। गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, केन्द्र में रविवार को पश्चिम बंगाल सरकार को एडवाइजरी भेजने के साथ अर्द्धसैनिक बलों को मूवमेंट के लिए ‘अलर्ट’ की नोटिस दे दी है। हालांकि बैठक में जाने से पहले राज्यपाल ने कहा कि यह सौजन्यमूलक मुलाकात थी क्योंकि दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद राज्यपाल उनसे नहीं मिल पाये थे। यहां उल्लेखनीय है कि राज्यपाल के तौर पर आगामी 23 जुलाई को केशरीनाथ त्रिपाठी की मियाद समाप्त होने वाली है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टाला ब्रिज पर डायवर्सन के कारण 100 मिनी बसें चलाएगा परिवहन विभाग

वाहनों के डायवर्सन से यात्रियों को नहीं होगी समस्याः शुभेन्दु अधिकारी कोलकाताः टाला ब्रिज पर बस व भारी वाहनों की पाबंदी के बाद बड़े पैमाने पर आगे पढ़ें »

बीजीबी की कार्रवाई बेवजह, हमने नहीं चलाई एक भी गोलीः बीएसएफ

मुर्शिदाबादः बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीबी) के जवानों ने बीएसएफ के जवान को लक्ष्य कर जानबूझकर चलायी थी गोली। यह मानना है सीमा पर तैनात बीएसएफ आगे पढ़ें »

ऊपर