राजीव को पकड़ने के लिए बंगाल से यूपी तक छापे

राजीव कहां हैं सीबीआई ने पूछा पत्नी से
टारगेट पूरा करने के लिए बनाया गया स्पेशल कंट्रोल रूम
सीबीआई का अनुमान –
जगह बदल-बदल कर रह रहे हैं राजीव
एक दर्जन से अधिक सिम का कर रहे हैं इस्तेमाल
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोलकाता पुलिस के पूर्व कमिश्नर राजीव कुमार को पकड़ने के लिए सीबीआई ने बंगाल से लेकर उनके पैतृक स्थान उत्तर प्रदेश तक तलाशी अभियान चलाया। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक भारे फिर रहे हैं राजीव कुमार। उनको पकड़ने के लिए सीबीआई की टीम ने शुक्रवार को दिन भर कोलकाता व राज्य के 6 स्थानों पर छापे मारे। इस बीच, उनकी पत्नी संचिता कुमार से भी सीबीआई की टीम ने बात की। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई की टीम ने उनकी पत्नी से पूछा है कि राजीव कहां है ? वे सीबीआई के समक्ष पेश क्यों नहीं हो रहे हैं ? सीबीआई सूत्रों के मुताबिक उनकी पत्नी ने सीबीआई अधिकारी को बताया कि वे अभी छुट्टी पर हैं लेकिन कहां हैं, वे नहीं बता सकतीं। इस पर अधिकारियों ने पूछा कि छुट्टी पर कहां गये हैं, इसके जवाब में उनकी पत्नी ने कहा कि उन्हें इस बारे में भी जानकारी नहीं है।
कहां-कहां हुई छापामारी
सीबीआई सूत्रों के मुताबिक पार्कस्ट्रीट स्थित उनके आवास के अलावा, विष्णुपुर के आमतल्ला ​स्थित एक रिसाॅर्ट, साल्टलेक व लेक टाउन स्थित अपार्टमेंट व होटल, रायचक सहित कुल 6 स्थानों पर छापामारी की गयी है। सीबीआई की टीम को उनके होने का जहां-जहां भी सुराग मिला है, सीबीआई की टीम वहां उन्हें ढूंढते हुए पहुंची। उनके मोबाइल को ट्रेस करने के बाद सीबीआई का इस बारे में कहना है कि राजीव कम से कम एक दर्जन से अधिक मोबाइल सिम का इस्तेमाल कर रहे हैं। उनका आधिकारिक नम्बर बंद है। शुक्रवार की सुबह साल्टलेक स्थित सीबीआई कार्यालय आने के लिए उन्हें तलब किया गया था लेकिन वे नहीं आये। एजेंसी ने एक दिन पहले ही उनके खिलाफ ताजा नोटिस जारी किया था और सारधा चिट फंड मामले में पूछताछ के लिए पेश होने को कहा था।
कोलकाता के पूर्व पुलिस आयुक्त कुमार पर आरोप है कि उन्होंने कई करोड़ रुपए के पोंजी घोटाला मामले में जांच के लिए महत्वपूर्ण सबूतों को कथित तौर पर दबाया। सीबीआई का एक विशेष जांच दल कुमार की तलाश कोलकाता के विभिन्न स्थानों पर कर रहा है। कुमार अब अपराध जांच विभाग में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक हैं।
स्पेशल कंट्रोल रूम में 24 घंटे काम
राजीव कुमार को पकड़ने के लिए सीबीआई के दिल्ली से कोलकाता पहुंचे अधिकारियों ने एक विशेष कंट्रोल रूम बनाया है। इससे उन्हें ढूंढने निकले अधिकारी संचालित कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि सीबीआई की टीम उनके उत्तर प्रदेश स्थित आवास भी गयी थी लेकिन पता चला कि वे वहां नहीं आये हैं। सीबीआई अधिकारियों के उनके गांव जाने से काफी सनसनी फैल गयी थी। वहीं दूसरी ओर गुप्त सूचना के आधार पर उन इलाकों में सीबीआई की टीम जा रही है जहां उनके होने के थोड़े भी आसार मिल रहे हैं। सीबीआई सूत्रों का कहना है कि बहुत जल्द हमारा टारगेट पूरा हो जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर